अपराध बड़ी खबर

मुख़्तार अंसारी को यूपी लेकर रवाना हुई पुलिस

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश पुलिस की एक टीम मुख्तार अंसारी को रूपनगर जेल से लेकर उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हो गई है। 26 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि मुख्तार अंसारी को पंजाब से उत्तर प्रदेश जेल भेजा जाए।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मऊ से विधायक बाहुबली मुख्तार अंसारी पर गैंगस्टर, हत्या की कोशिश, हत्या, धोखाधड़ी और साजिश के विभिन्न मामले यूपी में निरूद्ध है। वह जनवरी 2019 से कथित उगाही के मामले में पंजाब की जेल में बंद हैं।

मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने कहा कि जहां तक न्यायिक प्रक्रिया की बात है, उनके खिलाफ 40-50 मामले होने की फर्जी बातें की जा रही हैं। छोटी-बड़ी धाराओं के 13 मुकदमें एमपी एमएलए कोर्ट इलाहाबाद में विचाराधीन हैं उनका परीक्षण होगा।

वहीँ मुख्तार अंसारी को बांदा की जिस जेल में शिफ्ट किया जाना है वहां सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। जेल के मुख्य द्वार समेत अन्य स्थानों पर अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे लगाये गये है। जेल के आसपास सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की गयी है। जेल की चाहरदिवारी के बाहर बड़ी संख्या मे सुरक्षा बल तैनात किये गये है। ड्यूटी पर पहुंचने वाले जेल कर्मियों को भी जांच पड़ताल के बाद प्रवेश दिया जा रहा है।

ये भी पढ़ें:  किसान नेता राकेश टिकैत पर हमले के मामले में पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया

मुख्तार को पंजाब के रोपड़ से यूपी के बांदा जेल में लाने की जिम्मेदारी प्रयागराज के अपर पुलिस महानिदेशक प्रेम प्रकाश के हवाले की गयी है। मुख्तार अंसारी को कड़ी सुरक्षा के बीच लाया जाएगा।

पंजाब के गृह विभाग ने उच्चतम न्यायालय के आदेश का हवाला देते हुये उत्तर प्रदेश सरकार से कहा है कि वह मुख्तार अंसारी को आठ अप्रैल तक जेल से ले लें। यूपी के अपर मुख्य सचिव (गृह) को लिखे पत्र में पंजाब सरकार ने अंसारी के स्थानांतरण के लिए उपयुक्त इंतजाम कराने को कहा है। चिट्ठी में कहा गया कि अंसारी को कई बीमारियां हैं और उसे ले जाने का प्रबंध करने के दौरान इसका ध्यान रखा जाना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें