बड़ी खबर राजनीति

दशहरा रैली में उद्धव बोले ‘हमारा हिंदुत्व आपके जैसा घंटियां-बर्तन बजाने वाला नहीं’

मुंबई। विजय दशमी के अवसर पर हर साल की तरह इस वर्ष भी शिव सेना ने दादर स्थित सावरकर ऑडिटोरियम में रैली का आयोजन किया। इस रैली को संबोधित करते हुए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पीएम नरेंद्र मोदी और संघ प्रमुख मोहन भागवत पर भी निशाना साधा।

उद्धव ठाकरे ने पिछले दिनों हुई हर एक घटना पर बीजेपी और मोदी सरकार को खरी खरी सुनाईं। उन्होंने राज्यपाल कोश्यारी पर भी हमला बोला। उद्धव ठाकरे ने हिंदुत्व को लेकर भी सवाल दागे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को एक साल हो गया। जिस दिन से मैं मुख्यमंत्री बना हूँ उस दिन से सरकार गिराने की बातें कही जा रही हैं, मैं चुनौती देता हूँ और उन लोगों से कहता हूं कि साहस है तो सरकार गिराकर दिखाएँ।

उद्धव ने कहा कि जो मेरी सरकार गिराना चाहते हैं उनसे अनुरोध है कि वे पहले अपनी सरकार को गिरने से बचा लें। मैं अपील करूंगा कि बिहार के लोग आपकी आंखें खोलें और वोट करें। उन्होंने कहा कि मैं मराठा, ओबीसी समुदाय के लिए न्याय चाहता हूं. मेरा सभी से अनुरोध है कि कोई बंटे नहीं, हमें महाराष्ट्र के लिए संयुक्त रहना है।

ये भी पढ़ें:  वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल का निधन

उद्धव यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा कि हमसे हमारे हिंदुत्व के बारे में पूछा जाता है क्योंकि हम राज्य में फिर से मंदिर नहीं खोल रहे हैं। वे कहते हैं कि मेरा हिंदुत्व बाला साहेब ठाकरे से अलग है। खैर, आपका हिंदुत्व घंटियां और बर्तन बजाने वाला है। हमारा हिंदुत्व वैसा नहीं है।’

उद्धव ठाकरे ने कहा कि सुबह मोहन जी भागवत ने राष्ट्र को हिंदी में संबोधित किया। जिसमें उन्होंने कहा कि हिंदुत्व का मतलब मंदिरों में की जाने वाली पूजा नहीं है, और आप हमसे कह रहे हैं कि अगर आपने मंदिर नहीं खोले तो आप धर्मनिरपेक्ष बन रहे हैं।

यह उनका वाक्य है, मेरा नहीं। उनके मानने वाले भी उनकी तरह काली टोपी पहने हैं। अगर उस टोपी के नीचे एक सिर है, तो उस सिर को कहने के बारे में सोचें, क्या आपको यह हिंदुत्व पसंद है? हम हमेशा से चाहते थे कि मोहन भागवत हमारे देश के राष्ट्रपति बनें, लेकिन वो ऐसा नहीं चाहते।

उद्धव ठाकरे ने जीएसटी की नई प्रणांली को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जीएसटी व्यवस्था विफल हो गई है, प्रधानमंत्री को इसे स्वीकार करना चाहिए और पुरानी व्यवस्था को फिर से लागू करना चाहिए।

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी के घोषणा पत्र में फ्री कोरोना वैक्सीन के वादे पर उद्धव ठाकरे ने बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि आप बिहार में मुफ्त कोविड-19 टीके का वादा करते हैं, तो क्या फिर अन्य राज्यों के लोग बांग्लादेश या कजाखस्तान से हैं। आप बिहार में फ्री कोरोना वैक्सीन बांट रहे हैं, बाकी का देश पाकिस्तान या बांग्लादेश है क्या, ऐसी बात करने वालों को शर्म आनी चाहिए, आप केंद्र सरकार में हो।

ये भी पढ़ें:  रेप की घटनों पर लगाम लगाने के लिए इस देश ने उठाया ये बड़ा कदम

इतना ही नहीं कंगना द्वारा मुंबई को पीओके कहे जाने को लेकर भी उद्धव ठाकरे ने बिना नाम लिए निशाना साधा। उन्होंने कहा कि यदि भारत में कहीं पीओके है तो ये प्रधानमंत्री मोदी की नाकामी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें