देश बड़ी खबर

दिल्ली में आज से किसानो का दो दिवसीय महाप्रदर्शन, हरियाणा सीमा सील

नई दिल्ली। कृषि कानूनो के खिलाफ किसान संगठनों का दो दिवसीय प्रदर्शन आज से शुरू होगा। इस प्रदर्शन में भाग लेने के लिए पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों से भी किसान दिल्ली पहुंच रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले आयोजित किये जा रहे दो दिन के धरना प्रदर्शन में कई अन्य किसान संगठन भी शामिल होंगे।

राजधानी दिल्ली में किसानो के प्रदर्शन को देखते हुए आसपास के राज्यों की सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हरियाणा ने पंजाब से लगने वाली अपनी सीमा को सील कर दिया है।

इस बीच दिल्ली की तरफ बढ़ रहे किसानो को रोकने के लिए बुधवार को अंबाला में किसानो को रोकने की कोशिश की गई। पुलिस ने किसानो को रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया लेकिन इसके बावजूद किसान नहीं रुके और किसानो ने पुलिस बेरिकेटिंग को हटा दिया और दिल्ली की तरफ बढ़ गए।

हरियाणा सरकार ने पंजाब से लगने वाली अपनी सीमा को दो दिनों के लिए सील कर दिया है। किसानो के प्रदर्शन को देखते हुए गुड़गांव जाने वाली मेट्रो के कार्यक्रम में परिवर्तन किया है। दोपहर 2 बजे तक दिल्ली से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुरुग्राम तक मेट्रो सेवाओं को स्थगित रखा गया है।

ये भी पढ़ें:  किसान अधिकार दिवस पर कांग्रेस का प्रचंड प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी सड़क पर उतरे

डीएमआरसी के मुताबिक ब्लू लाइन पर आज सुबह से दोपहर दो बजे तक आनंद विहार से वैशाली और न्यू अशोक नगर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो की सेवाएं बंद रहेगी। वहीँ येलो लाइन (yellow line) पर सुल्तानपुर मेट्रो स्टेशन से लेकर गुरु द्रोणाचार्य मेट्रो स्टेशन तक भी सेवाएं बंद रहेगी। इसके अलावा भी कई रूट की मेट्रो सेवाओं को स्थगित रखा गया है।

वहीँ किसानो के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बलों को तैनात किया जा रहा है। किसानो का दिल्ली में प्रवेश रोकने के लिए अतिरिक्त फ़ोर्स की तैनाती की गई है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक करीब 4 हज़ार ट्रेक्टरो में सवार किसान दिल्ली की तरफ बढ़ रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन के महासचिव सुखदेव सिंह ने कहा है कि इस विरोध मार्च में 25 हजार महिलाएं और 4000 ट्रैक्टर शामिल होंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें