दुनिया बड़ी खबर

राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप को हराने मैदान में आई भतीजी, ट्रंप को वोट न देने की अपील

वाशिंगटन। अमेरिका में 3 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। ट्रंप को न सिर्फ अमेरिका में कोरोना संक्रमण पर दिए अपने बेतुके बयान भारी पड़ते दिख रहे हैं वहीँ अब ट्रंप की भतीजी मैरी ट्रंप भी उनके खिलाफ मैदान में उतर आयी हैं।

मैरी ट्रंप ने अमेरिका के लोगों से 2016 की ग़लती न दोहराने की अपील की है। उन्होंने अमेरिका के मतदाताओं से कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक गैर ज़िम्मेदार इंसान हैं और वे ट्रंप को वर्षो से जानती हैं।

एक जर्मनी पत्रिका श्पेगल को दिए अपने इंटरव्यू में मैरी ट्रंप ने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप अक्षम और गैर ज़िम्मेदार व्यक्ति हैं। अमेरिका के लोगों को 2016 गलती को सुधारने का ये मौका है। अमेरिका के मतदाता इस बार राष्ट्रपति पद के चुनाव में ट्रंप को हराकर अपनी पिछली गलती को सुधार सकते हैं।

मैरी ट्रंप ने यह भी कहा कि अमेरिका के मतदाता इस बार डोनाल्ड ट्रंप को व्हाइट हाउस पहुंचने में मदद न करें नहीं तो अमेरिका को बड़ा नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि डोनाल्ड ट्रंप कुश्ल व्यक्ति नहीं हैं। वे व्यापार जगत में भी सफल नहीं रहे।

ट्रंप की भतीजी ने कहा कि मेरे चाचा को धर्म से कोई लगाव नहीं है लेकिन वे दूसरों की आस्था का दुरूपयोग करना जानते हैं। उन्होंने अमेरिका के मतदाताओं से अपील की कि “इस बार अपनी गलती को फिर से न दोहराएं, मैं यह नहीं चाहती कि नवंबर में मतदान करने वाले इस प्रकार का व्यवहार करें कि मानो उनको वास्तविकता की जानकारी ही नहीं है।”

चुनाव आगे बढ़वाना चाहते हैं ट्रंप:

गौरतलब है कि अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव को लेकर हाल ही में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना का हवाला देते हुए चुनाव आगे बढ़ाये जाने की सलाह दी थी। ट्रंप ने ट्वीट कर यह भी कहा कि पोस्टल बैलेट के ज़रिए वोटिंग से चुनाव में धांधली बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि क्या चुनावों को उस समय तक टाला नहीं जा सकता जब अमरीकी जनता सुरक्षित रूप से और पूरी शांति के साथ मतदान करने की स्थिति में आ जाए।

हालांकि राष्ट्रपति पद का चुनाव टालना ट्रंप अकेले के हाथ में नहीं हैं। वे इस मामले में कोई फैसला अमेरिका पर नहीं थोप सकते, लेकिन ट्रंप का बयान इस बात के संकेत हैं कि अब उन्हें अपनी हार का भय सताने लगा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें