दुनिया बड़ी खबर

ट्रंप की आखिरी उम्मीदें भी ख़त्म, पेनसिल्वेनिया में दायर मुकदमा खारिज

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को उस समय बड़ी निराशा हाथ लगी, जब चुनाव में धांधली साबित करने का उनका आखिरी प्रयास भी कोर्ट की कसौटी पर खरा नहीं उतर पाया और धांधली के आरोप वाला मुकदमा अदालत ने ख़ारिज कर दिया।

अमेरिका में एक संघीय न्यायाधीश ने देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अभियान की ओर से पेनसिल्वेनिया में दायर उस मुकदमे को खारिज कर दिया है जिसमें लाखों मतों को अवैध घोषित करने की मांग की गई थी।

यूएस मिडल डिस्ट्रिक्ट ऑफ पेनसिल्वेनिया के न्यायाधीश मैथ्यू ब्राउन ने ट्रंप अभियान का अनुरोध शनिवार को खारिज कर दिया, जिससे तीन नवंबर को हुए चुनाव के परिणामों को चुनौती देने के राष्ट्रपति ट्रंप के प्रयासों को खासा झटका लगा है।

राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडन विजयी रहे हैं। न्यायाधीश ब्रान ने फैसले में कहा कि ट्रंप अभियान ने दस्तावेजों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया और आरोपों के समर्थन में सबूत पेश नहीं किए। ट्रंप अभियान ने मतदान प्रक्रिया में अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए इस महीने की शुरुआत में मुकदमा दायर किया था।

ये भी पढ़ें:  सरकार की किसानो से हुई बातचीत, बैठक के बाद किसानो ने कहा "आंदोलन जारी रहेगा"

नव-निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन ने पेनसिल्वेनिया में ट्रंप को 81,000 से भी अधिक मतों के अंतर से पछाड़ दिया। इस महत्वपूर्ण राज्य में 20 इलेक्टोरल कॉलेज वोट हैं।

हालांकि डोनाल्ड ट्रंप ने अभी भी व्हाइट हाउस खाली नहीं किया है और उनके इस निर्णय को लेकर न सिर्फ लगातार सवाल उठ रहे हैं बल्कि तरह तरह के कयास भी लगाए जा रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें