देश बड़ी खबर

त्रिपुरा मामले में गृहमंत्री अमित शाह से मिले तृणमूल कांग्रेस सांसद

नई दिल्ली। पिछले दिनों त्रिपुरा में हुई हिंसा और तृणमूल कांग्रेस नेताओं पर दर्ज किये गए मामलो को लेकर तृणमूल कांग्रेस के सांसदो के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की।

गृह मंत्री अमित शाह से मिलने के बाद कल्याण बनर्जी, तृणमूल कांग्रेस ने मीडिया को बताया कि गृह मंत्री ने सब कुछ सुना, अमित शाह ने बोला है कि हमने कल त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के साथ बात की है और आज हमें सुनकर वो वहां से रिपोर्ट लेंगे।

तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने कहा कि हमने गृहमंत्री अमित शाह को ज्ञापन दिया है। गृह मंत्री ने बोला है कि हिंसा नहीं होगी। हमारी मुख्य मांग थी कि और हिंसा नहीं होनी चाहिए, हमारे लोगों पर फर्जी केस दर्ज़ नहीं होने चाहिए और त्रिपुरा में शांति होनी चाहिए।

वहीँ दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी दिल्ली पहुंच रही हैं। वे त्रिपुरा हिंसा को लेकर 24 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगी।

सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को कहा कि वे पीएम मोदी से मुलाकात के दौरान सीमा सुरक्षा बल (BSF) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने के साथ-साथ त्रिपुरा में ‘व्यापक हिंसा’ से संबंधित मुद्दों को उठाएंगी। ममता ने यह भी कहा कि वह त्रिपुरा में पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले के विरोध में तृणमूल कांग्रेस (TMC) सांसदों के चल रहे धरने में वे शामिल नहीं हो पाएंगी, लेकिन निश्चित रूप से उनके साथ एकजुटता व्यक्त करेंगी।

ये भी पढ़ें:  आज़म पर अखिलेश की चुप्पी के बीच शिवपाल की आज़म से मुलाक़ात

गौरतलब है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने त्रिपुरा में अपने ऊपर हमले का आरोप लगाया है। टीएमसी का आरोप है कि त्रिपुरा के अगरतला स्थित एक पुलिस स्टेशन में घुसकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें जमकर पीटा। पुलिस स्टेशन के अंदर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें त्रिपुरा पुलिस के सामने लाठी-डंडे से पीटा और उनके ऊपर पथराव भी किया गया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें