बड़ी खबर मनोरंजन

आर्यन की गिरफ्तारी पर बोले जावेद अख्तर ‘अरबो रूपये की ड्रग्स जब्ती की खबर हैडलाइन नहीं बनी’

मुंबई। शाहरुख खान के बेटे आर्यन को ड्रग्स मामले में क्रूज से गिरफ्तार किए जाने को लेकर एनसीबी पर उठ रहे सवालो के बीच प्रख्यात गीतकार जावेद अख्तर ने भी आर्यन की गिफ्तारी को लेकर सवाल हैं।

जावेद अख्तर ने आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद बॉलीवुड को टारगेट किए जाने की बातों पर कहा कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री, हाई प्रोफाइल होने के चलते जांच के दायरे में है और ये कीमत है, जिसे चुकाना पड़ता है।

अलमास विरानी और श्वेता समोटा की किताब चेंजमेकर्स के लॉन्चिंग इवेंट पर मीडिया से बातचीत के दौरान जावेद अख्तर ने कहा, “यह वह कीमत है जो फिल्म इंडस्ट्री को हाई प्रोफाइल होने के लिए चुकानी पड़ती है। जब आप हाई प्रोफाइल होते हैं, तो लोगों को आपको नीचे गिराने और आप पर कीचड़ उछालने में मजा आता है। अगर आप कुछ नहीं हैं, तो आपके ऊपर पत्थर फेंकने का समय किसके पास है?”

इतना ही नहीं जावेद अख्तर ने कहा कि सुपरस्टार के बेटे के केस को मीडिया का कुछ ज्यादा ही अटेंशन मिल रहा है, जबकि गुजरात के कच्छ जिले में स्थित मुंद्रा बंदरगाह पर 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त की गई, उसका कहीं कोई जिक्र नहीं है।

ये भी पढ़ें:  उत्तराखंड जीतने की कवायद, राहुल-प्रियंका करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां

जावेद अख्तर ने कहा कि एक पोर्ट पर आपको 1 बिलियन डॉलर की कोकीन मिलती है और एक जगह पर 1,200 आदमी थे, वहां 1,30,000 रुपए की चरस, गांजा मिलती है। वह एक राष्ट्रीय ख़बर बन गई। मैंने तो कभी 1 बिलियन डॉलर कोकीन के बारे में हेडलाइन देखी ही नहीं। उसकी ख़बर अख़बार के 5वें, 6ठे पन्ने पर आती है

वहीँ बांग्लादेश में मंदिरों और हिंदुओं पर हो रहे हमलों पर जावेद अख़्तर ने कहा कि जहां भी अल्पसंख्यकों के साथ अन्याय होता है, वह मुझे चिंतित करता है। यह शर्म की बात है कि बांग्लादेश ऐसा उदाहरण पेश कर रहा है। शेख हसीना उदारवादी नेता मानी जाती हैं, उनके यहां ऐसा हो रहा है, यह शर्म की बात है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें