देश बड़ी खबर

अयोध्या मामले में शनिवार को आएगा सुप्रीमकोर्ट का फैसला

नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित भूमि के मालिकाना हक को लेकर सुप्रीमकोर्ट कल सुबह साढ़े दस बजे अपना फैसला सुनाएगा। गौरतलब है कि सुप्रीमकोर्ट में सुनवाई होने के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा था।

कल अयोध्या मामले में सुप्रीमकोर्ट के फैसले के मद्देनज़र राज्यों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। वहीँ इस मामले से जुड़े अयोध्या में ड्रोन विमान के जरिये निगरानी की जा रही है।

गृह मंत्रालय ने सभी राज्‍यों को सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिए हैं। गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार को अयोध्या में सभी सुरक्षा तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए विशेष निर्देश जारी किए है।

इससे पहले शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई ने शुक्रवार को उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍य सचिव, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) और अन्‍य वरिष्‍ठ अफसरों के साथ मुलाकात की।

उत्तर प्रदेश में संवेदनशील जिलों को सेक्टर में बांटकर सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किये गए हैं। इतना ही नहीं प्रदेश के सभी रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। गृह मंत्रालय ने कानून व्यवस्था बनाए रखने में राज्य सरकार की सहायता के लिए उत्तर प्रदेश में अर्धसैनिक बलों की 40 कंपनियां (प्रत्येक में लगभग 100 कर्मी) मुहैया कराई हैं।

अयोध्या मामले पर आने वाले फैसले से पहले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों के आला अफसरों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की और हर जिले में 24 घंटे एक विशेष कंट्रोल रूम खोलने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि लखनऊ और अयोध्या में हेलीकॉप्टर किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार रखा जाए। सीएम ने सभी धार्मिक स्थलों की सुरक्षा के निर्देश भी दिए और सोशल मीडिया पर भी नजरें बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि अयोध्या मामले में सुप्रीमकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5-न्यायाधीशों की संविधान पीठ ने सुनवाई की थी। इस मामले में अंतिम सुनवाई 16 अक्टूबर को पूरी होने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रखा था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें