मध्यप्रदेश राज्य

नायब तहसीलदार के कक्ष में कभी भी दस्तक दे सकता है कोरोना संक्रमण

पांढुर्ना(गुड़डू कावले):गुरुवार की नायब तहसीलदार के कक्ष में जन सुनवाई हो या पेशी में पहुचे ग्रामीण अंचल के लोगो की भीड़ यह दर्शाती है कि किसी भी वक्त कोरोनावायरस किसी को भी संक्रमित कर सकता है।

हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों कोरोना प्रोटोकाल के तहत आमजनों को बखूबी जानकारी देते है परन्तु अधिकारी स्वयं इन बातो का पालन करना कहीं न कहीं भूल रहे है।

शहर के तहसील कार्यालय का नजारा देखा जाए तो यहां कोई सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। जिम्मेदार अधिकारी भी इस बात की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं।

शहर के राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों का कहना है कि तहसील कार्यालय क्या लावा अन्य शासकीय कार्यालयों में सोशल डिस्टेंसिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। ऐसे हालातों में क्या महिला बाल विकास विभाग के बाबू कोरोना संक्रमण से ग्रसित होने के बाद भी कोरोना प्रोटोकाल का पालन नही हो रहा है।

इन परिस्थितियों में अब कोरोनावायरस भीड़ भाड़ वाले क्षेत्र में दस्तक दे सकता है। जैसे लोगों के लिए कोरोना संक्रमण बचाव नियमों का पालन करना जरूरी है, वैसे अधिकारियों को इस बात की तरफ ध्यान होना जरूरी है। तभी तो हम कोरोना की जग जीतने और चेन की कड़ी को तोड़ने में सफल होंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें