बड़ी खबर राजनीति

मतदाताओं के नाम शरद यादव का मार्मिक पत्र “आपकी सेवा के लिए बेटी सुभाषिनी को सौंप रहा हूं”

पटना ब्यूरो। वरिष्ठ नेता और मधेपुरा के पूर्व सांसद शरद यादव ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की उम्मीदवार अपनी बेटी सुभाषिनी के समर्थन में मतदाताओं के नाम एक मार्मिक पत्र लिखा है।

पिछले कुछ दिनों से स्वस्थ चल रहे शरद यादव ने अपने पत्र में लिखा कि “जैसा कि आप सभी जानते हैं कि मैं पिछले कुछ महीनों से अस्वस्थ चल रहा ही दिल्ली के अस्पताल में भर्ती का इस पत्र को लिखते समय मैं भावनात्मक भी है और हृदय की गहराइयों से खुश भी, ये बात मैं आप सभी से कहना चाहता था लेकिन अस्वस्थ होने के माध्यम से बात रख रहा हूँ।”

उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन का हर पल मधेपुरा के लोगों के लिए समर्पित किया है और आपके सुख दुख में साथ खड़ा रहा हूँ और मधेपुरा के विकास की सदैव लड़ाई लड़ी है। बिहारीगंज मधेपुरा के विधानसभा क्षेत्रों में से एक है। बिहारीगंज क्षेत्र में भी कई काम किए गए हैं। इतने काम किए हैं जिनकी व्याख्या करना यहां पर मुश्किल है।

अपने पत्र में शरद यादव ने लिखा कि पिछले तीन दशकों से जब मैं वर्ष 1991 में मधेपुरा से संसद सदस्य चुना गया, तब से आज तक यहां के लोगों की सेवा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। जिसमे बिहारीगंज भी है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने पत्र में लिखा कि मुझे खुशी है कि मेरी बेटी हक ने इस बार बिहारीगंज से विधानसभा चुनाव कांग्रेस के हाथ चुनाव चिन्ह पर महागठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर लड़ने का फैसला किया है। वह शिक्षित है और लोगों की सेवा करने का इरादा रखती है। उन्होंने मेरे संसद चुनाव में प्रचार के दौरान हिस्सा लिया था और लोगों की समस्याओं को जानने के लिए समय-समय पर मधेपुरा का दौरा भी किया और सेवा करती रही हैं।

शरद यादव ने पत्र में आगे कहा कि मुझे भरोसा है कि वह व्यक्तिगत रूप से बिहारीगंज के जनमानस के संपर्क में रहकर कुशल तरीके से लोगों सेवा करना जारी रखेंगी। पिछड़े, दलित, महादलित, अनुसूचित जाति जनजाति और गरीब लोगो के प्रति अपने दिल में विशेष सम्मान रखती हैं और इसलिए मैं आपको विश्वास दिला सकता हूं कि वह किसी भी जाति व वर्ग के लोगो के साथ भेदभाव नहीं रखेगी।

अपने पत्र में मतदाताओं से अपील करते हुए शरद यादव ने कहा कि मैं मतदाताओं से अपील करता हूं कि महगठबधन की उम्मीदवार सुभाषिनी अब सिर्फ मेरी बेटी नही है, बल्कि आप सभी की बेटी है जो बिहारीगंज के विकास के लिए सदैव समर्पित रहेगी। सुभाषिनी को अपने आशीर्वाद के तौर पर कांग्रेस के चुनाव चिन्ह के सामने वाला बटन दबा कर वोट करें और बनाए और आपकी सेवा करने का मौका दें। मेरे जीवन में सब कुछ मैंने आप लोगों के लिए समर्पित किया है, अब उम्र के इस पड़ाव पर आपकी सेवा के लिए बेटी सुभाषिनी को सौंप रहा हूँ ।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें