बड़ी खबर राजस्थान राज्य

सिंधिया की तर्ज पर बगावत: कल विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं होंगे पायलट

जयपुर। राजस्थान में उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने खुली बगावत के संकेत दिए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर आज रात आयोजित हुई कांग्रेस विधायकों की अनौपचारिक बैठक खत्म हो गयी है। इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पार्टी के विधायकों और मंत्रियों से चर्चा की।

वहीँ कल सुबह दस बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बगावत तेवर दिखाते हुए बैठक में शामिल न होने का एलान किया है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पायलट ने गहलोत सरकार के अल्पमत में आने का दावा भी किया है।

माना जा रहा है कि सचिन पायलट अपने समर्थक विधायकों के साथ बीजेपी के संपर्क में आ चुके हैं और वे किसी भी समय ज्योतिरादित्य सिंधिया की तरह बीजेपी मुख्यालय पहुंच सकते हैं। कहा जा रहा है कि पायलट के साथ विधायकों की तादाद 30 के करीब है इसमें तीन निर्दलीय विधायक भी शामिल हैं।

वहीँ राजस्थान में पैदा हुई रार को दूर करने के लिए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर कांग्रेस के तीन नेताओं रणदीप सिंह सुरजेवाला, अजय माकन और अविनाश पांडे जयपुर पहुंच गए हैं। सोनिया गांधी ने इन तीनो नेताओं को राजस्थान में पैदा हुआ विवाद हल करने की ज़िम्मेदारी सौंपी है।

सूत्रों के मुताबिक सचिन पायलट अभी दिल्ली में ही डेरा डाले हैं और वे पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के लिए समय मिलने का इंतजार कर रहे हैं। इससे पहले खबर आई थी कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सचिन पायलट से मिलने से इंकार कर दिया है लेकिन सूत्रों की माने मुलाकात को लेकर अभी सोनिया गांधी के कार्यालय से सचिन पायलट को कोई संदेश नहीं मिला है।

इससे पहले कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि ‘कोरोना से पूरा देश त्रस्त है, प्रतिदिन संक्रमण बढ़ कर 29,000 हो गया है, चीन ने हमारी सरज़मीं पर क़ब्ज़ा किया है, और सत्ताधारी पहले मध्यप्रदेश और अब राजस्थान में विधायक खरीदने में व्यस्त है। समझना ये है हम सबको कि – संकट किसी राज्य पर नहीं,पूरे भारतीय लोकतंत्र पर है।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें