देश बड़ी खबर

संसद में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के बयान पर बिफरा विपक्ष, माफ़ी मांगने की मांग

नई दिल्ली। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के बयान पर विपक्ष ने कड़ा एतराज जताते हुए माफ़ी मांगने की मांग की है। अनुराग ठाकुर ने संसद में पीएम केयर्स फंड को लेकर चर्चा के दौरान गांधी परिवार को लेकर एक टिप्पणी की। जिसके बाद लोकसभा में कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कड़ा एतराज जताते हुए अनुराग ठाकुर के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी कर डाली।

दरअसल आज लोकसभा में पीएम केयर्स फंड को लेकर वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर जबाव दे रहे थे। अनुराग ठाकुर ने कहा कि पीएम राष्ट्रीय राहत कोष को गांधी परिवार के लिए बनाया गया था। वित्त राज्य मंत्री ने उन सभी नामों को उजागर करने की धमकी दी, जिन्हें पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से लाभ मिला. उनके इस बयान के बाद ही सदन में हंगामा शुरू हो गया।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि विपक्ष को चुनौती देता हूं कि वो किसी भी मुद्दे पर चर्चा कर ले लेकिन मैं ये साफ कर दूं कि ये संवैधानिक रूप से पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट है। ये देश की जनता के लिए है। कांग्रेस ने गांधी परिवार के लिए ही सिर्फ ट्रस्ट बनाया था.गांधी परिवार का जिक्र होते ही कांग्रेस के सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया।

अनुराग ठाकुर के बयान पर विपक्ष ने कड़ा एतराज जताया। कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि नव निर्वाचित सदस्य भी विपक्षी सदस्यों के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। इस बीच विपक्षी दलों के सांसदों ने नारेबाजी की और वे अनुराग ठाकुर के माफ़ी मांगने पर अड़े रहे।

हंगामे के कारण संसद की कार्यवाही लगातार तीन बार कार्यवाही स्थगित होने के बाद 6 बजे एक बार फिर कार्यवाही शुरू हुई। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसदों को समझा कर शांत किया। इसके बाद वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने अपने बयान पर खेद जताया और कहा कि मेरे बयान से किसी को पीड़ा पहुंची है, तो मैं खेद जताता हूं। उन्होंने कहा कि किसी को पीड़ा पहुंचाना मेरी मंशा नहीं थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें