बड़ी खबर राजनीति

किसानो के आंदोलन पर मुझे गर्व, सरकार को तीनो कृषि कानून वापस लेने होंगे: राहुल गांधी

चेन्नई। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए मोदी सरकार पर सीधा हमला बोला है। तमिलनाडु पहुंचे राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि “किसान जो कर रहे हैं मुझे उस पर गर्व है और मैं उनका पूरा समर्थन करता हूं। सरकार को ये कानून वापस लेने पड़ेंगे, मैंने जो कहा उसे याद रखना।”

राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि “सरकार सिर्फ किसानों को नजरअंदाज ही नहीं कर रही बल्कि वो उन्हें बर्बाद करने की साजिश भी कर रही है क्योंकि वो अपने दो-तीन दोस्तों को लाभ पहुंचाना चाहते हैं। वो किसानों की जमीन, उनकी उपज लेकर उसे अपने दो-तीन दोस्तों को देना चाहते हैं।”

उन्होंने मोदी सरकार का नाम लेकर कहा, “आप किसानों को दबा रहे हो, मुट्ठी भर उद्योगपतियों की मदद कर रहे हो, जब कोरोना आता है तब आप आम आदमी की मदद नहीं करते। आप किसके प्रधानमंत्री हैं, भारत के लोगों के या दो-तीन बिजनेसमैन के? चीन हमारे क्षेत्र में क्या कर रहा है।”

ये भी पढ़ें:  65वे जन्मदिन पर मायावती का एलान: यूपी-उत्तराखंड में अकेले चुनाव लड़ेगी बसपा

मदुरई में राहुल गांधी ने कहा ‘इस देश के किसान इस देश की रीढ़ की हड्डी हैं। अगर कोई यह सोचता है कि आप किसानों को दबा लोगे और देश समृद्ध बना रहेगा। उन्हें इतिहास देखने की जरूरत है, जब-जब भारतीय किसान कमजोर हुआ है, भारत कमजोर हुआ है।’

कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज तमिलनाडु के दौरे पर हैं। उन्होंने मदुरै में स्थानीय लोगों के साथ पोंगल त्योहार मनाया और खाना खाया। राहुल गांधी ने अवनियापुरम के जल्लीकट्टू कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

गौरतलब है कि कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 50 दिनों से किसान दिल्ली की सीमाओं पर डंटे हुए हैं। सरकार से आठ बार हुई बातचीत बेनतीजा रहने के बावजूद किसानो के हौसले बुलंद हैं। सुप्रीमकोर्ट द्वारा बनाई गई समिति से असहमति जताते हुए किसान संगठनो ने कहा है कि आंदोलन जारी रहेगा और वे 26 जनवरी को परेड भी निकालेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें