देश बड़ी खबर

और बढ़ेंगी कंगना रनौत की मुश्किलें: पंजाब की दादी ने ठोका मुकदमा

नई दिल्ली। राजद्रोह सहित कई मामलो में उलझी फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रहीं। अब उनके लिए एक और नई मुश्किल पैदा हो गई है। किसान आंदोलन में शामिल होने आई एक बुज़ुर्ग महिला को शाहीन बाग़ की बिलकिस बताते हुए ट्विटर पर अमर्यादित टिप्पणी करने के लिए कंगना के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

यह मुकदमा पंजाब के बठिंडा की 73 वर्षीय बुजुर्ग दादी मोहिंदर कौर ने दायर किया है। ठिंडा के दर्ज कराए गए इस मामले में मोहिंदर कौर ने वकील रघबीर सिंह के मुताबिक कंगना के खिलाफ आईपीसी की धारा 499 (मानहानि) और 500 (मानहानि की सजा) के तहत शिकायत दर्ज कराई गई है।

दादी महिंदर कौर की अर्ज़ी पर जिला कोर्ट 11 जनवरी को सुनवाई करेगा। कंगना ने अपने ट्वीट में मोहिंदर कौर का फोटो शेयर करते हुए उन्हें शाहीन बाग में सीएए और एनआरसी के विरोध में शामिल हुईं बिलकिस बानो बताया था।

कोर्ट में दी अपनी शिकायत में मोहिंदर कौर ने कहा कि कंगना रनौत ने उनकी साख और प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाई है। शिकायत में कहा गया कि कंगना के ट्वीट की वजह से उन्हें फैमिली मेंबर्स, रिश्तेदारों, पड़ोसियों, गांववालों और आम जनता की नजरों में मानसिक तनाव, दर्द, उत्पीड़न झेलना पड़ा।

ये भी पढ़ें:  Live: सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों के अमल पर लगाई रोक

अपनी शिकायत में 73 वर्षीय मोहिंदर कौर ने कहा कि किसान आंदोलन के बीच कंगना ने ट्विटर पर मेरी तस्वीर साझा करते हुए लिखा था, ‘यह वही दादी है, जिसे टाइम मैगजीन के कवर पर सबसे पावरफुल इंडियन बताया गया था। वह 100 रुपए में दिहाड़ी पर उपलब्ध है।

गौरतलब है कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले में महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस को लेकर किये गए विवादित ट्वीट से सुर्ख़ियों में आई कंगना रनौत पर कई विवादित टिप्पणियों के लिए क़ानूनी प्रक्रियाएं चल रही हैं।

राजद्रोह के एक मामले में आज बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना रनौत की गिरफ्तारी पर 25 जनवरी तक के लिए रोक लगा दी है। कोर्ट यह फैसला कंगना रनौत की उस याचिका पर सुनाया जिसमे उसने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट में गुहार लगाई थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें