बड़ी खबर बिहार-झारखंड राज्य

पप्पू यादव का एलान : 25 नवंबर को होगा बिहार विधानसभा का घेराव

पटना: जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन पप्पू यादव ने कहा है कि बिहार में अपराधियों और माफियाओं के रहमो करम पर सरकार चल रही है। नीतीश सरकार का एकबाल खत्म हो गया है ,ऐसा लगता है कि सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि नीतीश कुमार नवरत्नों के सहारे बिहार में भ्रष्ट तंत्र का साम्राज्य खड़ा कर लिया है ,जिस कारण आम लोगों का विश्वास सरकार से समाप्त हो चुका है।

पूर्व सांसद ने कहा कि बिहार में सत्ता पक्ष और विपक्ष ने उन्माद और जातिवाद के नाम पर समाज में जहर घोला है उससे पूरा राजनीतिक और सामाजिक वातावरण प्रदूषित हो गया है,जहां एक और राज्य सरकार 15 वर्षों के ऊपर के गाड़ियों के चलने पर प्रदूषण के नाम पर रोक लगा दी है। उसी तरह से सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों 15 -15 वर्षों तक राज्य मे शासन कर ली है उसे 2020 में जनता राजनीतिक प्रदूषण फैलाने और समाज में दहशत, अत्याचार और व्यभिचार की घटनाओं के बढ़ने के कारण सत्ता से बाहर करने का संकल्प ले ली है और उन्हें सत्ता से बाहर कर देगी।

उन्‍होंने कहा कि पटना में हुए जलजमाव, बढ़ते अपराध ,महिलाओ पर अत्याचार, बढ़ती बेरोजगारी ,छात्रों पर हो रहे हो जुल्म, सामाजिक और राजनीतिक प्रदूषण के खिलाफ 25 नवंबर 2019 को बिहार विधानसभा का घेराव किया जाएगा।

पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव एजाज अहमद ने बताया कि विधानसभा घेराव के लिए पटना में सघन रूप से पर पर्चा, पोस्टर, बैनर, नुक्कड़ सभा के साथ-साथ आम लोगों के बीच जन जागरण का अभियान भी चलाया जाएगा आज पार्टी की विशेष बैठक में यह फैसला लिया गया।

पार्टी में शामिल होने वाले नेताओं में छात्र राजद के रोशन कुमार यादव, सरोज कुमार, अर्जुन कुमार ,धर्मेंद्र कुमार, आशीष कुमार, चंदन कुमार, राजा सिंह, अभिषेक सिंह, श्रवण कुमार, मनीष कुमार ,शिव कुमार यादव ,राजन कुमार ,मोहम्मद जफर आलम, आलोक रंजन, सत्येंद्र कुमार यादव ,मोनू मेहता, सुमित कुमार प्रजापति, करण साहनी, रोशन कुमार, भोलू कुमार ,सरोज कुमार यादव सहित सैकड़ों की संख्या में छात्र -युवा ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर युवा परिषद की नेत्री ईशा यादव ,छात्र परिषद के नितीश सिंह ,सनी यादव ,पटना महानगर के अध्यक्ष दिलीप यादव सहित अन्य नेतागण उपस्थित थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें