बड़ी खबर राजनीति

वैक्सीन की किल्ल्त पर विपक्ष ने सरकार को घेरा, पूछा ‘दूसरे देशो को क्यों भेजी जा रही वैक्सीन’

नई दिल्ली। कई राज्यों में वैक्सीन की किल्ल्त और प्रयाप्त आपूर्ति न होने को लेकर विपक्ष ने आज एकसाथ सरकार पर हमला बोला। विपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार देश के सभी राज्यों में पर्याप्त वैक्सीन भेजने की जगह दूसरे देशो को वैक्सीन भेज रही है।

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने लोकसभा में पूछे गए एक सवाल पर सरकार के जबाव का हवाला देते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने बताया था कि 15 मार्च तक 71 देशों में 5.86 करोड़ टीके भेजे गए हैं। ऐसे में देश में कोरोना वैक्सीन का स्टॉक कम होना कोई बड़ी बात नहीं हैं। तिवारी ने कहा कि चैरिटी की शुरुआत घर से होनी चाहिए।

वहीँ इससे पहले आज ओडिशा, महाराष्ट्र और झारखंड के सरकार स्वास्थ्य मंत्री ने भी राज्य में पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध न होने की बात कही थी। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्र सरकार पर राज्य के साथ भेदभाव का आरोप लगाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में हर हफ्ते 40 लाख वैक्सीन की खपत है, लेकिन उनके पास लोगों को टीका लगाने के लिए वैक्सीन नहीं है। लिहाजा लोगों को केंद्रों से वापस भेजा जा रहा है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन की पर्याप्त स्पालई न मिलने के कारण कई टीका केन्द्रो को बंद किया गया है।

ये भी पढ़ें:  बीजेपी को मतदाताओं के आधार से जुड़े मोबाईल नंबर कैसे मिले? जांच के आदेश

उड़ीसा के स्वास्थ्य मंत्री नबा किशोर ने वैक्सीन डोज कम मिलने की शिकायत करते हुए कहा कि हमारे पास वैक्सीन की सिर्फ 5.34 लाख डोज़ हैं। हम प्रतिदिन 2.5 लाख डोज लगाते हैं। हमने केंद्रीय मंत्री को चिट्ठी लिखकर 10 दिन के लिए 25 लाख वैक्सीन की मांग की है। अगर अगले 2 दिन में वैक्सीन नहीं आई तो हमें वैक्सीनेशन को बंद करना होगा।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने केंद्र सरकार पर गैर बीजेपी शासित राज्यों के साथ सौतेले व्यव्हार का आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा वैक्सीन को लेकर जारी किए गए नए आदेश के अनुसार महाराष्ट्र को केवल 7.5 लाख वैक्सीन दी गई हैं। जबकि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा आदि को महाराष्ट्र की तुलना में कहीं अधिक वैक्सीन दी गई हैं।

उन्होंने कहा कि मैंने और शरद पवार ने वैक्सीन को लेकर भेदभाव किए जाने के मु्द्दे पर डॉ.हर्षवर्धन से बात की है, हमारे पास सबसे अधिक संख्या में सक्रिय मरीज़,पॉजिटिविटि रेट है तो हमें इतनी कम वैक्सीन क्यों दी जाती हैं?उन्होंने मुझे आश्वासन दिया कि इसमें जल्द ही सुधार होगा।

वहीं शिवसेना नेता संजय राउत ने केंद्र पर महाराष्ट्र सरकार को नीचा दिखाने और संकट में डालने का आरोप लगाया। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार कुछ नाकामी नहीं छुपा रही है। ये राज्य को नीचा दिखाने और सरकार को संकट में डालने की साजिश की जा रही है। महाराष्ट्र पर दबाव बनाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें:  मैंने ली है असम में पार्टी की ज़िम्मेदारी, वेंटिलेटर पर जा चुकी है बीजेपी: भूपेश बघेल

कई राज्यों द्वारा कोरोना वैक्सीन की कमी होने पर बोलते हुए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने सफाई दी कि वैक्सीन वितरण में हमने किसी भी राज्य के साथ कोई भेदभाव नहीं रखा है। हम हर घंटे जांच करते हैं कि कितनी वैक्सीन है, कितनी भेजी गई है। इस पर राजनीति करना दुर्भाग्यपूर्ण है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें