देश बड़ी खबर

अब चीन के मुद्दे पर बीजेपी सांसद ने अपनी ही पार्टी की सरकार को घेरा

नई दिल्ली। चीन द्वारा भारतीय सीमा में अतिक्रमण के सवाल पर जहां कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार से सवाल कर रही है, वहीँ अब बीजेपी सांसद सुब्रमणियम स्वामी ने भी चीन के मुद्दे पर सरकार से सवाल किया है।

सुब्रमणियम स्वामी ने कहा कि क्या मोदी सरकार इस सच्चाई को स्वीकार करने की हिम्मत कर रही है? या देश को 1962 की तरह चीन से अधिक अपमान सहना पड़ेगा?

बीजेपी सांसद सुब्रमणियम स्वामी ने ट्वीट कर कहा, “चीन पहले ही हम पर आक्रमण कर चुका है, कुछ हजार वर्ग किलोमीटर पर कब्जा कर चुका है, टाउनशिप, सड़कें और निगरानी चौकियां बना चुका है। और हम नहीं जानते। कोई आया नहीं… क्या मोदी सरकार इस सच्चाई को स्वीकार करने की हिम्मत कर रही है? या देश को 1962 की तरह चीन से अधिक अपमान सहना पड़ेगा?”

कांग्रेस भी कर रही है सवाल:

गौरतलब है कि भारतीय सीमा में चीन के अतिक्रमण को लेकर कांग्रेस लगातार सवाल उठा रही है। पार्टी ने अभी हाल ही में कांफ्रेंस कर पेंटागन रिपोर्ट का हवाला देते हुए दावा किया था कि चीन ने भारतीय सीमा के अंदर एक गाँव बसा लिया है।

ये भी पढ़ें:  2017 से पहले बीजेपी का 45 सीटों का आंकड़ा था, हम उसे वही ले जायेंगे: स्वामी प्रसाद मौर्य

पार्टी ने पीएम मोदी के उस बयान पर सवाल खड़े किये हैं जिसमे उन्होंने 17 महीने पहले दावा किया था कि भारतीय सीमा में कोई नहीं घुसा है और न ही किसी चैकपोस्ट पर कोई कब्ज़ा किया गया है।

पार्टी ने कहा कि पेंटागन की रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश की सीमा में करीब 4.5 किमी अंदर घुसकर एक गांव बसा लिया। इसमें 101 घर नजर आ रहे हैं। चीन का यह गांव अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले के गांव त्सारी चू गांव में बसाया गया है।

कांग्रेस पवन खेड़ा ने कहा कि पिछले साल जून में अरुणाचल प्रदेश से भाजपा सांसद तपिर ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिख चेतावनी दी थी कि चीन ने देश की सीमा में घुसपैठ की है। मगर पीएम और गृहमंत्री ने उन दावों को खारिज कर दिया और अब आज 17 महीने हो चुके हैं, लेकिन मोदी ने चीन को क्लीन चिट दे रखी है। ये क्लीन चिट ही भारत के इतिहास का एक काला अध्याय है क्योंकि चीन ने पूरी दुनिया में इसका इस्तेमाल किया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें