बड़ी खबर राजनीति

शरद पवार का बड़ा एलान, विपक्ष में ही बैठेगी एनसीपी

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना- बीजेपी के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रहे विवाद के बीच एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने बड़ा बयान दिया है। महाराष्ट्र में शिवसेना को सरकार बनाने के लिए समर्थन देने के कयासों को ख़ारिज करते हुए शरद पवार ने कहा कि बीजेपी और शिवसेना सरकार बनायें, एनसीपी को विपक्ष में बैठने के लिए जनादेश मिला है।

इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि महाराष्ट्र में शिवसेना और एनसीपी मिलकर सरकार बना सकते हैं। इतना ही नहीं कई मीडिया रिपोर्ट्स में एनसीपी नेताओं के हवाले से खुलासा किया गया था कि राज्य में सरकार बनाने के लिए एनसीपी और शिवसेना में डील हो चुकी है।

आज सारे कयासों को खारिज करते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि शिवसेना और एनसीपी की सरकार पर शरद पवार ने कहा कि भाजपा और शिवसेना बीते 25 सालों से एक दूसरे के साथ हैं। आज या कल वे फिर साथ आ जाएंगे।

शरद पवार ने यह भी कहा कि कांग्रेस ने क्या सोचा है इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है लेकिन फिलहाल उनकी सोच यही है कि एनसीपी को विपक्ष में बैठने के लिए जनादेश मिला है और एनसीपी को यही करना चाहिए।

वहीँ शरद पवार के बयान से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत शरद पवार से मुलाकात की। पवार से मुलाकात के बाद राउत ने कहा कि वह राज्य और देश के एक वरिष्ठ नेता हैं। महाराष्ट्र की राजनीतिक स्थिति को लेकर वह चिंतित हैं।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद पर 50-50 फॉर्मूले को लेकर टकराव चल रहा है। शिवसेना लगातार राज्य में अपना मुख्यमंत्री होने का दावा कर रही है।

शरद पवार के इंकार के बाद अब महाराष्ट्र की राजनीति में एक बार फिर सस्पेंस पैदा हो गया है। अहम सवाल यही है कि यदि बीजेपी -शिवसेना के बीच फंसा पेंच नहीं निकलता तो राज्य में नई सरकार का गठन किस तरह मुमकिन होगा। इसी से जुड़ा एक सवाल यह भी है कि क्या महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन को लेकर शिवसेना की शंका सही थी ?

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें