उत्तर प्रदेश बड़ी खबर राज्य

मुख्तार के परिजनों का आरोप: जेल प्रशासन ने नहीं होने दी मुलाकात, किया गया अमानवीय व्यवहार

लखनऊ ब्यूरो। पंजाब के रोपड़ से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में शिफ्ट किये गए बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के परिजनों ने आरोप लगाया है कि बांदा जेल में शिफ्ट किये जाने के बाद उन्हें मुख्तार अंसारी से नहीं मिलने दिया गया।

मुख्तार अंसारी के भाई और सांसद अफज़ाल अंसारी ने आरोप लगाया कि मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी के बांदा जेल में शिफ्ट करने के दौरान करीब 15 घंटे की यात्रा में मुख्तार अंसारी को भोजन और पानी नहीं मुहैया कराया गया। उन्होंने कहा कि ये अमानवीय व्यवहार है। अफज़ाल अंसारी ने कहा है कि इससे बेहतर होता कि पंजाब से यूपी आने के दौरान उनके भाई को रास्ते में गोली मार दी जाती।

वहीँ पंजाब से यूपी के बांदा जेल में शिफ्ट किये गए मुख्तार अंसारी के परिजनों ने जेल में मुलाक़ात करने के लिए जेल प्रशासन से निवेदन किया था लेकिन मुख्तार अंसारी के परिजनों को मुलाकात की अनुमति नहीं दी गई।

मुख्तार अंसारी के परिवार को उनसे न मिलने दिए जाने पर उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि उनकी सुरक्षा और उनको कोरोना न हो इसका भी ख्याल रखा जा रहा है। जेल प्रशासन ने भी प्रोटोकॉल जारी किया है, उसका भी पालन कर रहे हैं। सरकार और न्यायालय के प्रोटोकॉल का भी पालन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें:  बीजेपी ने पूर्व विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को दिया पंचायत चुनाव में टिकिट

उन्होंने कहा कि जो लोग कानून से मजाक करते थे। उनकी उत्तर प्रदेश में वापसी हो चुकी है। जिसने जो किया है वो भरेगा। ये योगी जी की सरकार है। पिछले दिनों सपा की सरकार में लोग जेल में फाइव स्टार होटल की सुविधा लेते थे।

मुख्तार अंसारी को बांदा जेल लाए जाने पर यूपी के जेल मंत्री जय कुमार सिंह ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा कि जब से योगी आदित्यनाथ सरकार आई है गुंडे, माफिया और अपराधी भयभीत हैं। उनको लगता है कि UP हमारे लिए सुरक्षित नहीं है। अपराधियों में खौफ होना जरूरी है। सरकार भयमुक्त समाज की स्थापना के संकल्प के साथ आई थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें