पड़ताल बड़ी खबर

पड़ताल: क्या हथिनी की हत्या को हिन्दू-मुस्लिम रंग देना चाहती थी बीजेपी

नई दिल्ली। केरल के पलक्क्ड़ जिले में एक हथिनी को अन्नास में विस्फोटक खिलाकर हत्या किए जाने का मामला अब राजनैतिक मोड़ ले रहा है। बीजेपी ने इस घटना पर अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने के लिए इसे हिन्दू मुस्लिम एंगिल देने की कोशिश की है।

वहीँ इस मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के बयान से राजनीति और गरमा गई है। मेनका गांधी ने इस घटना से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लपेटने की कोशिश की। उन्होंने इसकी ज़िम्मेदारी राहुल गांधी पर डालते हुए कहा कि वे उस एरिया से सांसद हैं उन्होंने कोई एक्शन क्यों नहीं लिया ?

वहीँ इस मामले में सबसे बड़ी चूक केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से हुई। यह चूक वाकई में चूक थी या जानबूझकर की गई चूक थी लेकिन प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर हथिनी की मौत से मुस्लिम बाहुल्य जिले मल्लापुरम को जोड़ दिया।

ये भी पढ़ें:  सिब्बल का संघ प्रमुख पर पलटवार, पूछा '370 हटने के बाद कश्मीर में कौन सा विकास हुआ'

जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार ने मल्लापुरम, केरल में एक हाथी की हत्या को बहुत गंभीरता से लिया है। हम सही तरीके से जांच करने और अपराधी को बंद करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। यह पटाखे खिलाने और मारने के लिए भारतीय संस्कृति नहीं है। जावड़ेकर ने अपने ट्वीट में मल्लापुरम लिखा जबकि जिस जिले में हथिनी को विस्फोटक खिलाया गया वह पलक्क्ड़ ज़िले में आता है।

गौरतलब है कि केरल का मल्लापुरम डिस्ट्रिक्ट मुस्लिम बाहुल्य इलाका है। जावड़ेकर के ट्वीट के बाद कई चैनलों से हथिनी की हत्या से मल्लापुरम और मुसलमानो को जोड़ने की कोशिश भी की।

इतना ही नहीं कई चैनलों में हथिनी की हत्या के मामले से मल्लापुरम को जोड़ने की कोशिशों के तहत ख़ास प्रोग्राम भी दिखाए जिसमे मल्लापुरम और मुसलमानो पर ज़्यादा ज़ोर दिया गया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें