देश बड़ी खबर

गृह मंत्रालय ने जारी की अनलॉक-2 के लिए गाइडलाइन, ये हैं नियम

नई दिल्ली। देश में अनलॉक-2 के लिए गृह मंत्रालय ने गाइडलाइंस जारी कर दी हैं। अनलॉक-2 में भी रात दस बजे से सुबह 5 बजे तक का कर्फ्यू जारी रहेगा। कंटेनमेंट जोन में सख्ती रहेगी जबकि कंटेनमेंट जोन से बाहर के इलाकों में छूट दी जाएगी। नई गाइडलाइंस 1 जुलाई से प्रभावी होंगी।

स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर 31 जुलाई तक बंद रहेंगे। वहीँ ऑनलाइन कक्षाओं की अनुमति जारी रहेगी।

गृहमंत्रालय की गाइडलाइन के मुताबिक अभी भीड़ जमा होने वाले कार्यक्रमों की अनुमति नहीं होगी। सिनमा हाल, स्विमिंग पूल, जिम, एंटरटेनमेंट पार्क, ऑडिटोरियम इत्यादि अभी बंद रहेंगे।

सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक समारोहों के आयोजन पर पाबंदी बरकरार रहेगी। गृह मंत्रालय द्वारा स्वीकृत की गई अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के अलावा पाबंदी जारी रहेगी। मेट्रो ट्रेनों के संचालन पर भी अभी रोक जारी रहेगी।

अनलॉक-2 की गाइडलाइंस अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों से परामर्श लेने के बाद जारी की गई हैं। इसमें राज्य, संघ शासित प्रदेश और केंद्र मंत्रालय व उसके विभाग भी शामिल हैं। गाइडलाइंस के अनुसार, सार्वजनिक जगहों, कार्यस्थलों पर और परिवहन के इस्तेमाल के दौरान फेस कवर पहनना अनिवार्य है।

अनलॉक-2 की गाइडलाइन के अनुसार केंद्र और राज्य सरकारों के ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट कंटेनमेंट जोन के बाहर खोले जा सकेंगे। 15 जुलाई से इन्‍हें खोलने की इजाजत होगी। स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसीजर का पालन करना होगा। गाइडलाइन में राज्यों के लिए प्रावधान किया गया है कि वे कंटनेमेंट जोन के बाहर वैसे बफर जोन की पहचान कर सकते हैं, जहां कोरोना के केस बढ़ने की संभावना है। जिला प्रशासन ऐसी जगहों पर आवश्यक प्रतिबंध लगा सकता है।

गौरतलब है कि देश में कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र लागू किये गए लॉकडाउन के बाद सरकार द्वारा चरणवद्ध तरीके से लॉकडाउन समाप्त करने का एलान किया था। देश में अनलॉक-1 की अवधि 30 जून को समाप्त हो रही है।

हालांकि कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है और पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 19,459 नए मामले दर्ज़ किए गए तथा 380 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक भारत में पॉजिटिव मामले 5,48,318 हैं जिसमें 2,10,120 सक्रिय मामले, 3,21,723 ठीक / विस्थापित / डिस्चार्ज और 16,475 मौतें शामिल हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें