छत्तीसगढ़ बड़ी खबर राज्य सोशल

आठ महिलाओं के नाम से फर्जी आईडी बनाकर सांप्रदायिकता परोसने वाला रवि धरा गया

रायपुर। पुलिस ने एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया है जिसमे पाकिस्तानी अभिनेत्री, मॉडल सहित आठ महिलाओं के नाम से फ़र्ज़ी आईडी बनाकर न सिर्फ अपने फेसबुक प्रोफाइलों से सांप्रदायिकता परोसी बल्कि महिलाओं के नाम की फ़र्ज़ी आईडी से लोगों से चैट भी की।

रवि पुजार नामक व्यक्ति लोगों से चैट करने पर अलग अलग परिचय देता था। वह किसी को आईएमएफ तो किसी को यूएनओ से जुड़ा बताता था। लेकिन वह निशा जिंदल के नाम से बनाई गई फेसबुक प्रोफाइल से फंस गया।

उक्त व्यक्ति ने निशा जिंदल की फ़र्ज़ी आईडी बनाकर करीब चार हज़ार मित्रो को जोड़ रखा था। इतना ही नहीं उसने अभी सभी फ़र्ज़ी आईडी में पाकिस्तान की मॉडल या लड़कियों की फोटो लगा रखी थी।

निशा जिंदल नामक आईडी में उसने पाकिस्तानी मिरहा पाशा के फोटो को प्रोफाइल में लगा रखा था और मिरहा पाशा के फोटो गैलरी से फोटो डाउनलोड करके निशा जिंदल वाली प्रोफाइल पर अपलोड करता था।

गिरफ्तार व्यक्ति नागरिकता कानून, एनआरसी के समर्थन में निशा जिंदल की आईडी से पोस्ट करता था। इतना ही नहीं उसकी कई पोस्टो में उसकी सांप्रदायिक मानसिकता साफ़ नज़र आती है।

ये भी पढ़ें:  महाराष्ट्र सरकार का बड़ा एलान: अल्पसंख्यक छात्रों को पढाई के लिए हर महीने मिलेंगे 3 हज़ार रुपये

एक पोस्ट में उसने लिखा कि जिन इलाको में मुस्लिम आबादी ज़्यादा है, वहीँ दंगे होते हैं। इतना ही नहीं एक पोस्ट में वह दावा कर रहा है कि अगर किसी मुस्लिम ने पुलिस या आम जनता को कोई भी हानि पहुंचाई तो उसे सीधे सिर पर गोली मार दी जाएगी।

लगातार उलटी सीधी पोस्ट के बाद कुछ लोगों से चैट पर हुई बातचीत में कई लोगों को निशा जिंदल की आईडी पर शक हुआ तो यह मामला पुलिस तक पहुंचा। पुलिस ने इस मामले में फेसबुक से जानकारी जुटाने के बाद फ़र्ज़ी आईडी चला रहे रवि पुजार का आईपी एड्रेस ट्रेस किया।

पुलिस ने शुक्रवार को रवि पुजार नामक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार रवि पुजार पिछले आठ साल से अलग अलग महिलाओं के नाम से फेसबुक पर फ़र्ज़ी आईडी चला रहा था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें