पड़ताल बड़ी खबर

एक्सक्लूसिव: मृतक को कागजो पर किया ज़िंदा, मिला पीएम आवास योजना का लाभ

ब्यूरो(राम मिश्रा,अमेठी):पुरानी कहावत है कि भ्रष्टाचार करने वाले लहरें भी गिनकर अपनी जेबें भर लेते हैं। इस भ्रष्टाचार का दीमक अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट पीएम आवास योजना पर भी लग गया है।

इस योजना में बड़ा घोटाला यूपी के अमेठी जिले में सामने आया है। आरोप हैं कि प्रधानमंत्री आवास योजना में तो भ्रष्टाचारियों ने पैसे डकारने के लिए सारी हदें पार करते हुए 4 साल पहले मर चुके व्यक्ति को भी प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभार्थी बना दिया।

कमाल है ! मृतक मन्तराम को दे दिया पीएम आवास योजना का घर-

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अक्सर दावा करते रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में सरकार की किसी भी योजनाओं में भ्रष्टाचार पनपने नहीं दिया जाएगा लेकिन उनके इस दावे का भ्रष्टाचारी मजाक उड़वाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

ताजा मामला अमेठी जिले के मुसाफिरखाना विकासखंड अंतर्गत गांव सालपुर का है। यहां के निवासी अजय कुमार पुत्र मन्तराम द्वारा की गई शिकायत के मुताबिक उसके पिता मन्तराम की मौत चार साल पहले हो चुकी है और कुछ दिनों पूर्व उसे ‘लाभार्थी विवरण’ से जानकारी हुई कि उसके पिता के नाम 2019 की पीएम आवास सूची में आवास आवंटित होना दर्शाया गया है।

मन्तराम कागज पर जिन्दा- चल रहा बैंक खाता –

अजय कुमार का दावा है कि उसके पिता के बैंक खाते से आवास आवंटन की धन राशि दो किस्तो में (40000 रुपये और 70000 रुपये) अलग अलग तारीखों में निकाल ली गई है। शिकायतकर्ता का कहना है कि उसके पिता की मौत के बाद पात्रता में उसकी मां आती है लेकिन उसकी मां के नाम कोई आवास आवंटित नहीं हुआ है ।

जिलाधिकारी ने कहा- होगी कार्रवाही –

वही जब इस मामले को लेकर जिलाधिकारी अमेठी प्रशांत शर्मा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मामला संज्ञान में नहीं है बाद जांच आवश्यक कार्रवाही की जाएगी ।

बड़ा सवाल-

पूरे मामले को देखें तो एक बड़ा सवाल यह उठ खड़ा होता है कि प्रशासनिक अमले मिलीभगत के बिना इतना बड़ा काला कारनामा कैसे किया जा सकता है। प्रदेश सरकार में बैठे मंत्रियों से लेकर प्रशासनिक अधिकारी, यहाँ तक कि चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी तक सभी खुद को बेदाग़ बताते हैं तो आखिर इस भ्रष्टाचार का जनक कौन है ?

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
Support us to keep Lokbharat Live, Give a small Contribution of Rs.100 to Support Fearless & Fair Journalism
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें