बड़ी खबर राजनीति

पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव को ममता ने बताया साजिश, कहा ‘हम पर्दाफाश करेंगे’

कोलकाता। चुनाव आयोग द्वारा आज 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के लिए किये गए कार्यक्रम के एलान में पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराये जाने का एलान किया गया है।

राज्य में 8 चरणों में चुनाव कराये जाने पर आपत्ति जताते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि यह बड़ी साजिश रची गई है, हम इसका पर्दाफाश करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग बीजेपी के इशारो पर काम कर रहा है।

ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर चुनाव को इतने ज्यादा चरणों में क्यों कराया जा रहा है। आखिर हर चरण में आधे जिले में मतदान का क्या तुक है।

उन्होंने कहा “दक्षिण परगना जिले में हमारी पार्टी मजबूत है, तो वहां तीन चरणों में मतदान कराया जाएगा, आखिर क्यों ? क्या यह नरेंद्र मोदी और अमित शाह के इशारे पर हो रहा है?”

मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव आयोग इस बात की पुष्टि करे कि प्रधानमंत्री और गृह मंत्री अपने पद का दुरुपयोग न करें। उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास बहुत से नेता होंगे, लेकिन फिर भी टीएमसी जीतेगी। उन्होंने कहा, “मैं भारत में इकलौती महिला मुख्यमंत्री हूं। क्या आप मुझसे इतना डरते हो? मुझे जीतने के बाद, आपको मुझे पुरस्कार देना होगा।”

ये भी पढ़ें:  कई राज्यों में वैक्सीन की किल्ल्त, फिर भी विदेश भेज रही सरकार, राहुल ने उठाये सवाल

वहीँ पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराये जाने के चुनाव आयोग के फैसले पर राष्ट्रीय जनता दल ने भी सवाल खड़े किये हैं। राष्ट्रीय जनता दल के नेता भाई बिरेंद्र ने कहा कि दा चरण होने से साजिश का डर बना है। चुनाव आयोग से हम कहेंगे कि मतदान कम चरण में कराए जाएं।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराये जाने का एलान किया है। पहला चरण- 27 मार्च को होगा, दूसरा- 1 अप्रैल, तीसरा- 6 अप्रैल, चौथा- 10 अप्रैल, पांचवां चरण- 17 अप्रैल, छठा चरण- 22 अप्रैल, सातवां चरण- 26 अप्रैल, आठवें चरण का मतदान- 29 अप्रैल को होगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें