बड़ी खबर राजनीति

बड़बोले नेताओं से खफा बीजेपी अध्यक्ष ने गिरिराज सिंह को किया तलब

नई दिल्ली। बड़बोले नेताओं के बयानों का दिल्ली के विधानसभा चुनाव में खामियाजा भुगत चुकी भारतीय जनता पार्टी अब पार्टी के बयानवीरों पर लगाम कसने का मन बना रही है।

इसी क्रम में शनिवार को भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बीजेपी नेता गिरिराज सिंह को तलब किया। बीजेपी हेडक्वार्टर में जे पी नड्डा से मुलाकात के बाद गिरिराज सिंह सीधे निकल गए और उन्होंने किसी से कोई बात नहीं की।

माना जा रहा है कि बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने गिरिराज सिंह को विवादित बयान न देने की नसीहत की है। हाल ही में गिरिराज सिंह ने देवबंद को लेकर विवादित बयान दिया था।

गिरिराज सिंह ने देवबंद को आतंकवाद की गंगोत्री कहा था। अपने बयान को पुख्ता करने के लिए गिरिराज सिंह ने तर्क भी दिए। उन्होंने कहा कि दुनिया में जितने भी आतंकी हुए हैं या आतंकी घटनाएं हुई हैं, उनके तार कहीं न कहीं देवबंद से ही जुड़े हैं। देवबंद से आतंकवाद को हमेशा समर्थन मिला है। आतंकवादी भी यहां आकर रुके हैं, चाहे हाफिज सईद का मामला हो या अन्य घटनाएं।

वहीँ इससे पहले दिल्ली के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं के विवादित बयान सामने आये थे। पूर्व बीजेपी अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह ने अभी हाल ही में एक कार्यक्रम में स्वीकार किया था कि विवादित बयानों से पार्टी को चुनाव में नुकसान उठाना पड़ा। अमित शाह ने यह भी कहा कि गोली मारो और भारत पाकिस्तान के मैच जैसे बयान उनकी पार्टी के नेताओं को नही देने चाहिए थे।

गिरिराज सिंह द्वारा विवादित बयान दिए जाने के मामले में कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा कि ,’गिरिराज जी ने पहली बार तो विवादित बयान नहीं दिया, वो लगातार ऐसे बयान देते रहे हैं जो देश और समाज को तोड़ने वाले हैं। प्रधानमंत्री जी को अगर उन्हें सजा देनी है तो मंत्री परिषद से बाहर का रास्ता दिखाएं। ऐसे आदमी को मंत्री बनने का कोई अधिकार नहीं है।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें