दुनिया बड़ी खबर

अमेरिका: 20 जनवरी को शपथ ले सकते हैं जो बाइडेन, क़ानूनी दांव पेंच का रास्ता तलाश रहे ट्रंप

वाशिंगटन। अमेरिका में नए राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडेन के नाम पर मुहर लग चुकी है। जो बाइडेन 20 जनवरी को अमेरिका के 46वे राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण करेंगे। वहीँ दूसरी तरफ राष्ट्रपति पद का चुनाव हार चुके डोनाल्ड ट्रंप अभी भी कानूनों दांव पेंच का रास्ता तलाश रहे हैं।

एक मीडिया रिपोर्ट् के मुताबिक व्हाइट हाउस के सूत्रों ने डेमोक्रेट नेता जो बाइडेन के राष्ट्र्पति पद की शपथ लेने के कार्यक्रम की पुष्टि करते हुए कहा कि जो बाइडेन 20 जनवरी को शपथ ले सकते हैं।

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि राष्ट्रपति पद का चुनाव हार चुके रिपब्लिकन नेता डोनाल्ड ट्रंप अभी भी कानूनी दांव पेंच इस्तेमाल करने का रास्ता ढूढ़ रहे हैं, जिससे जो बाइडेन को शपथ लेने से रोका जा सके। हालांकि अभी तक डोनाल्ड ट्रंप टीम के सभी कानूनों दांव पेंच असफल साबित हुए हैं।

गौरतलब है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मतगणना में धांधली का आरोप लगाया था। धांधली के आरोपों को लेकर ट्रंप की टीम ने कोर्ट का रुख किया था लेकिन उसे मायूसी हासिल हुई है।

ये भी पढ़ें:  देशभर में प्रतिदिन बढ़ रहे कोरोना के मामले, महाराष्ट्र में 24 घंटे में 49447 नए मामले

अमेरिका में 3 नवंबर को हुए राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडेन को बड़ी जीत हासिल हुई है और उनका राष्ट्रपति बनना तय हो गया है। पेनसिल्वेनिया राज्य में हार के बाद मतगणना में धांधली के आरोप लगाते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड की टीम ने नतीजे पलटने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

पेनसिल्वेनिया राज्य में चुनाव नतीजे प्रामाणिक करने की प्रक्रिया रोकने की ट्रंप की अपील को ठुकराते हुए हाल ही में तीसरी अपीलीय सर्किट कोर्ट के जज ने चुनावी नतीजे पलटने की दलील पर ट्रंप की टीम को कड़ी फटकार सुनाई थी।

अदालत ने कहा कि बिना प्रमाण किसी भी चुनाव को अनुचित नहीं कहा जा सकता। निष्पक्ष चुनाव हमारे लोकतंत्र के प्राण हैं और इस प्रक्रिया को रोका नहीं जा सकता है। अदालत ने कहा कि मतदाताओं के फैसले को पलटने की कोशिश का मतलब लोकतान्त्रिक प्रक्रिया को ठुकराने जैसा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें