दुनिया बड़ी खबर

शपथ ग्रहण करने के साथ ही मुस्लिमो पर लगे प्रतिबंध हटाएंगे बाइडेन, कई प्रस्तावों पर करेंगे हस्ताक्षर

नई दिल्ली (इंटरनेशनल डेस्क)। 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन कई प्रस्तावों पर हस्ताक्षर भी करेंगे। इनमे मुस्लिमो पर लगे प्रतिबंध हटाने का प्रस्ताव भी शामिल हैं।

राष्ट्रपति पद संभालने के बाद पहले दस दिनों के तय कार्यक्रम में करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर राष्ट्रपति बाइडेन के हस्ताक्षर किये जाने का प्रस्ताव है। इनमे कई मुस्लिम देशो पर निर्वर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल में थोपे गए प्रतिबंधों को खत्म करने के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर करना भी शामिल है।

बाइडेन पहले ही दिन अमेरिकी लोगों को कोरोना वायरस महामारी से जुड़ा राहत पैकेज भी देंगे। उन्होंने कहा कि जैसे कि पहले ही घोषणा की गई थी, वह शिक्षा विभाग से छात्रों के लिए ऋण के भुगतान पर मौजूदा रोक की अवधि बढ़ाएंगे, पेरिस समझौते में पुन: शामिल होंगे और मुसलमानों पर प्रतिबंध हटाएंगे।

इस बीच राष्ट्रपति बाइडेन के शपथ ग्रहण समारोह से पहले हिंसा की आशंका को देखते हुए राजधानी वाशिंगटन में सुरक्षा गार्डो की संख्या बढ़ाने का फैसला लिया गया है। बड़ी संख्या में सैनिक विभिन्न राज्यों से बसों और विमानों के जरिए शनिवार को राजधानी में आने लगे हैं। वाशिंगटन धीमे धीमे छावनी में बदलता जा रहा है।

ये भी पढ़ें:  पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस का परचम, बीजेपी के विधार्थी परिषद का सफाया

अमेरिकी मीडिया के मुताबिक नए राष्ट्रपति जो बाइडेन के शपथ लेते कही ट्रंप कार्यकाल में जिन देशो से अमेरिका के रिश्ते ख़राब हुए उन्हें बेहतर बनाने के लिए प्रयास शुरू किये जाएंगे। कोरोना काल में अमेरिका को हुई आर्थिक क्षति से देश को उबारने के लिए भी बाइडेन बड़े फैसले ले सकते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शपथ लेने के साथ ही राष्ट्रपति जो बाइडेन कोविड-19 संकट, इसके कारण पैदा हुआ आर्थिक संकट, पर्यावरण से जुड़ा संकट और नस्ली समानता से जुडे संकट पर बड़े कदम उठा सकते हैं।

भारतीय मूल के लोगों को सौंपी अहम कमान:

अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शपथ लेने में पहले ही कम से कम 20 भारतीय अमेरिकी मूल के लोगों को अपने प्रशासन में अहम पदों के लिए या तो नियुक्त किया है या नामित किया है। इन 20 लोगों में 13 महिलाएं भी शामिल हैं।

भारतीय मूल की नीरा टंडन को व्हाइट हाउस दफ्तर के प्रबंधन एवं बजट के निदेशक के तौर पर नामित किया गया है। वहीँ डॉक्टर विवेक मूर्ती को अमेरिकी सर्जन जनरल के पद पर नामित किया गया है।

इसके अलावा भारतीय मूल की नीता गुप्ता को एसोसिएट अटॉर्नी जनरल डिपार्टमेंट पद के लिए और पूर्व भारतीय अमेरिकी राजनयिक उजरा जेया को असैन्य सुरक्षा, लोकतंत्र और मानवाधिकार के लिए अवर मंत्री के पद के लिए नामित किया गया है।

ये भी पढ़ें:  आज पंजाब से यूपी की बांदा जेल शिफ्ट किये जायेंगे मुख़्तार अंसारी

भारतीय मूल की माला अडिगा प्रथम महिला बनने वाली डॉक्टर जिल बाइडेन की नीति निदेशक के पद के लिए नियुक्त हुई हैं। वहीँ भारतीय मूल की गरीमा वर्मा प्रथम महिला के दफ्तर में डिजिटल निदेशक होंगी। वहीं सबरीना सिंह को डिप्टी प्रेस सचिव के पद पर नामित किया गया है।

इसके अलावा दो भारतीय अमेरिकी लोग ऐसे भी हैं, जो मूल रूप से जम्मू कश्मीर से संबंध रखते हैं। आयशा शाह को व्हाइट हाउस दफ्तर की डिजिटल रणनीति की पार्टनरशिप मैनेजर के पद पर नियुक्त किया गया है। वहीं समीरा फाजिल व्हाइट हाउस में अमेरिकी नेशनल इकोनॉमिक काउंसिल (एनईसी) में उप निदेशक होंगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें