देश बड़ी खबर

जया बच्चन की कंगना को खरी खरी, इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने वाले लोग इसे गटर कह रहे

नई दिल्ली। महाराष्ट्र सरकार और बॉलीवुड को लेकर फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा उछाली जा रही कीचड़ को लेकर राज्य सभा सांसद जया बच्चन ने राज्यसभा में यह मामला उठाया।

जया बच्चन के कहा कि फिल्म उद्योग रोजाना पांच लाख लोगों को सीधा रोजगार देता है। बॉलीवुड को बदनाम करने की साजिश हो रही है। उन्होंने कहा कि मनोरंजन उद्योग के लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से भड़काया जा रहा है। इंडस्ट्री में अपना नाम बनाने वाले लोगों ने इसे गटर कहा है। मैं इससे पूरी तरह से असहमत हूं।

जया ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सरकार ऐसे लोगों को इस तरह की भाषा का उपयोग नहीं करने के लिए कहेगी। सिर्फ इसलिए कि कुछ लोग खराब हैं आप पूरे उद्योग की छवि को धूमिल नहीं कर सकते। मुझे शर्म आती है कि कल लोकसभा में हमारे एक सदस्य, जो फिल्म उद्योग से हैं, उन्होंने इसके खिलाफ बोला। यह शर्मनाक है।

वहीँ जया बच्चन के बयान का शिवसेना ने भी समर्थन किया है। राउत ने कहा कि कंगना रणौत ने जो बयान दिया है, उसपर बच्चन परिवार जवाब दे सकता है। उन्होंने कहा कि कंगना शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे के बारे में जो भी आरोप लगा रही हैं, उसके लिए उन्हें गृह मंत्रालय, गृह सचिव और एजेंसियों को सबूत देने चाहिए।

संजय राउत ने कहा कि जो लोग सवाल खड़े कर रहे हैं, पहले उनका ही डोप टेस्ट होना चाहिए। यदि अंतरराष्ट्रीय रास्तों से ड्रग्स आ रहा है तो ये केंद्र और केंद्रीय एजेंसियों की जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि यदि फिल्म जगत में कुछ बुरे लोग हैं तो इसका मतलब ये नहीं है कि पूरे उद्योग को बदनाम किया जाए।

दूसरी तरफ जया बच्चन के बयान पर कंगना रनौत ने भी प्रतिक्रिया दी है। कंगना रनौत ने ट्वीट कर कहा कि जया जी क्या आप तब भी यही कहती अगर मेरी जगह आपकी बेटी श्वेता को किशोरावस्था में पीटा जाता, नशा कराया जाता या उसके साथ छेड़छाड़ की जाती। क्या आप तब भी यही बात कहती अगर अभिषेक लगातार परेशान किए जाने और उत्पीड़न की शिकायत करते और एक दिन फांसी पर लटका हुए पाए जाते? हमारे लिए भी थोड़ी करुणा दिखाइए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें