देश बड़ी खबर

सरकार ने दिए कार्रवाही के संकेत, गृह मंत्रालय ने बुलाई बैठक, अर्ध सैनिकबलो की 15 टुकड़ियां बुलाई गईं

नई दिल्ली। किसान ट्रेक्टर परेड के दौरान दिल्ली के कुछ इलाको में पुलिस और किसानो के बीच हुई झड़पों और सरकारी संपत्तियों को नुक्सान पहुंचाने के अलावा लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने के मामले में केंद्र सरकार ने कार्रवाही के संकेत दिए हैं।

इस बीच गृह मंत्रालय की एक हाईलेबिल बैठक हुई। बैठक में मंत्रालय ने अतिरिक्त 15 अर्धसैनिक बलों की टुकड़ी की तैनानी के आदेश दे दिए हैं। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने उपद्रवियों से निपटने के सख़्त एक्शन के आदेश दे दिए हैं।

संयुक्त किसान मोर्चे ने जारी की अपील:

इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने ट्रेक्टर परेड को तुरंत समाप्त कर सभी किसानो से बॉर्डर पर वापस पहुंचने की अपील जारी की है। किसान संगठनों के नेताओं ने परेड के दौरान हुई हिंसक घटनाओं और लाल किले पर धार्मिक झंडा फहराने की घटना को किसान आंदोलन को कमजोर करने की दिशा में बड़ी साजिश करार दिया है।

संयुक्त किसान मोर्चे की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि “संयुक्त किसान मोर्चा किसान गणतंत्र दिवस परेड को तत्काल प्रभाव से बंद करके सभी प्रतिभागियों से तुरंत अपने संबंधित प्रदर्शन स्थलों पर लौटने की अपील करता है। आंदोलन शांतिपूर्वक जारी रहेगा और आगे के कदमों पर चर्चा करके जल्द निर्णय लिया जाएगा।”

ये भी पढ़ें:  किसानो को समझाने गए केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, कड़े विरोध के बाद मायूस होकर लौटे

ऑल इंडिया किसान सभा के महासचिव हन्नान मौलाह ने कहा कि आज दिल्ली में जिन्होंने तोड़फोड़ की, वे किसान नहीं किसान के दुश्मन हैं, ये साजिश का अंग है। आज की गुंडागर्दी से, साजिश से हमने सबक लिया है। भविष्य में आंदोलन में ऐसे लोगों को घुसने का मौका न मिले, हम शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन चलाएंगे।

दिल्ली के अलावा हरियाणा और पंजाब में भी हाई अलर्ट:

इस बीच दिल्ली के अलावा हरियाणा और पंजाब में भी हाई अलर्ट जारी किया गया है। दिल्ली के सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर, मुबारका चौक और नांगलोई में इंटरनेट की सर्विस अस्थाई तौर पर रोक दी गई है। आज रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद रहेगी।

वहीँ हरियाणा में भी सतर्कता बरती जा रही है। हरियाणा CM मनोहर लाल खट्टर ने आज एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए सभी उपायुक्तों, पुलिस आयुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को राज्य में कानून-व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए हैं। इतना ही नहीं हरियाणा सरकार ने सोनीपत, पलवल और झज्जर जिलों में इंटरनेट और SMS सेवाएं कल शाम 5 बजे तक निलंबित कर दी हैं।

हिंसक घटनाओं में 83 पुलिसकर्मी घायल:

दिल्ली पुलिस के मुताबिक मंगलवार को किसान ट्रेक्टर परेड के दौरान किसानो के साथ हुई झड़पों में कम से कम 83 पुलिस कर्मियों को चोटें आई हैं। दिल्ली पुलिस के संयुक्त पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने बताया कि काफी उग्र तरीके से ट्रैक्टरों द्वारा पुलिसकर्मियों को कुचलने की कोशिश की गई। व्यापक पैमाने पर तोड़फोड और नुकसान किया गया। काफी उग्र तरीके से ये रैली की गई, इसपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:  ओवैसी और शिवपाल में हुई मुलाकात, क्या बदल रहे यूपी के समीकरण

उन्होंने कहा कि किसान नेताओं के साथ बातचीत में रूट निर्धारित किए गए थे परन्तु आज सुबह 9:30 बजे एक गुट ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की और गाजीपुर बॉर्डर के पास पहली झड़प पुलिस के साथ हुई। पुलिस द्वारा उन्हें रोकने की कोशिश की गई।

चार एफआईआर दर्ज:

पूर्वी दिल्ली के इलाके में तोड़फोड़ और सरकारी सम्पति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में चार एफआईआर दर्ज की गई हैं। ये एफआईआर डीटीसी की 8 बसों और 17 निजी वाहनों से तोड़फोड़ के आरोप में की गई हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें