बड़ी खबर राज्य हरियाणा

हरियाणा में बीजेपी को सता रहा सरकार गिरने का डर, 4 निर्दलीय विधायक कांग्रेस के संपर्क में

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानो के बढ़ते दबाव के बीच आज जननायक जनता पार्टी(जेजेपी) के नेता और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। चौटाला ने इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह से भी मुलाक़ात की थी।

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को लेकर दुष्यंत चौटाला कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तौमर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी मिल चुके हैं। वहीँ हरियाणा में खाप पंचायतो के किसान आंदोलन में शामिल होने के बाद दुष्यंत चौटाला पर खट्टर सरकार से समर्थन वापस लेने के लिए दबाव बढ़ रहा है।

किसान आंदोल को लेकर जेजेपी के अंदर बगावती सुर शुरू हो चुके हैं और पार्टी के 4 असंतुष्ट विधायकों में पुंडरी से कलायत से ईश्वर सिंह,नारनाेंद से रामकुमार गौतम,शाहबाद से रामकरण काला और टोहाल से दवेंद्र बबली खुलकर किसानों के समर्थन में भाजपा से गठबंधन तौड़ने की इच्छा जता चुके हैं।

हरियाणा में सरकार गिरने के खतरे को भांपते हुए बीजेपी के शीर्ष नेता फ़िलहाल दुष्यंत चौटाला को किसान आंदोलन का हल जल्द निकलने का आश्वासन दे रहे हैं। दूसरी तरफ खट्टर सरकार से समर्थन वापस लेने के लिए दुष्यंत चौटाला पर पार्टी विधायक दबाव डाल रहे हैं।

ये भी पढ़ें:  दिल्ली-NCR के कुछ इलाको में रात 12 बजे तक इंटरनेट सेवा निलंबित, किसानो ने पल्ला झाड़ा

जेजेपी में असंतुष्ट विधायकों का एक गुट किसान आंदोलन का समर्थन कर रहा है। दूसरी तरफ खट्टर सरकार को समर्थन दे रहे 4 निर्दलीय विधायक भी समर्थन वापस लेने की धमकी दे रहे हैं। सूत्रों की माने तो निर्दलीय विधायकों ने मुख्यमंत्री खट्टर से अपनी मुलाकात में साफ़ साफ़ कह दिया है कि यदि कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया गया तो वे सरकार से अपना समर्थन वापस ले लेंगे।

11 जनवरी को इन चार निर्दलीय विधायकों की अगुवाई करते हुए बिजली मंत्री रणजीत सिंह चोटाला ने अपने आवास पर दिए दोपहर के भोजन पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को भी आमंत्रित किया। करीब दो घंटे चली मुलाकात में निर्दलीय विधायकों ने खाप पंचायतो के दबाव का हवाला देते हुए कहा कि कृषि कानून वापस नहीं लिए गए तो वे सरकार को समर्थन पर पुनर्विचार करेंगे।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा हुए एक्टिव:

हरियाणा में खट्टर सरकार को डगमगाता देख राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा एक्टिव हो गए हैं। हुड्डा ने पिछले दिनों खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग भी की है। सूत्रों के मुताबिक कई जेजेपी और निर्दलीय विधायक हुड्डा के संपर्क में हैं और खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी की जा रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें