चुनाव बड़ी खबर

महागठबंधन के करीब दो दर्जन उम्मीदवार रिकाउंटिंग के लिए कोर्ट जाने की तैयारी में

पटना ब्यूरो। बिहार में विधानसभा में काउंटिंग को लेकर पैदा हुए विवाद के बीच अब महागठबंधन के करीब दो दर्जन उम्मीदवारो ने कोर्ट का रुख करने का फैसला किया है।

राजद नेता तेजस्वी यादव पहले ही पोस्टल बैलेट की काउंटिंग को लेकर सवाल उठा चुके हैं अब करीब 21 सीटों पर बेहद कम मार्जिन से हारे महागठबंधन के उम्मीदवार जल्द ही रिकाउंटिंग की मांग को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटायेंगे।

राजद सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन के जो उम्मीदवार कोर्ट में मतगणना को चुनौती देंगे उनमे सर्वाधिक 14 उम्मीदवर राष्ट्रीय जनता दल के हैं, जबकि सीपीआई माले के 3, सीपीआई के 1 और 3 उम्मीदवार कांग्रेस के हैं।

राष्ट्रीय जनता दल और कांग्रेस ने मतगणना के दौरान ही हेरफेर के आरोप लगाए थे और देर रात महागठंधन के नेताओं ने चुनाव आयोग में जाकर शिकायत भी दर्ज कराई थी। महागठबंधन का आरोप है कि जिन उम्मीदवारों को विजयी घोषित किया गया था उन्हें प्रशासन ने निर्वाचन प्रमाणपत्र देने से इंकार करते हुए हारा हुआ घोषित कर दिया।

राजद सूत्रों के मुताबिक करीब 21 सीटें ऐसी हैं जहाँ पोस्टल बैलेट की गिनती में उलटफेर हुआ और महागठबंधन उम्मीदवार कम मार्जिन से हारे हैं। इन सीटों पर महागठबंधन के उम्मीदवार अब कोर्ट में रिकाउंटिंग के लिए याचिका दायर करेंगे।

ये भी पढ़ें:  कोरोना: केंद्र ने राज्यों के लिए जारी की गाइडलाइन, 1 दिसंबर से होगी लागू

सूत्रों ने कहा कि रिकाउंटिंग की मांग चुनाव आयोग से भी की गई थी लेकिन चुनाव आयोग की तरफ से कोई सकारात्मक जबाव नहीं मिलने के कारण महागठबंधन पास कोर्ट जाने का एक मात्र विकल्प बचा है।

महागठबंधन का कहना है कि जिन सीटों पर हारजीत का अंतर् एक हज़ार से कम वोट का है, उन सीटों पर रिकाउंटिंग होनी चाहिए। कई सीटें ऐसी हैं जिन पर पांच सौ वोटों से भी कम मार्जिन से हारजीत हुई है।

जिन सीटों को लेकर विवाद है उनमे हिलसा विधानसभा सीट, जहां राजद उम्मीदवार शक्ति सिंह यादव मात्र 12 वोटों से हार गए। भोरे विधानसभा सीट पर सीपीआई (माले) उम्मीदवार जितेंद्र पासवान 462 वोट से पराजित हुए।

इसके अलावा बेगूसराय की बछवाड़ा विधानसभा सीट जहां सीपीआई के अवधेश कुमार राय 484 मतों से, चकाई विधानसभा सीट पर राजद उम्मीदवार सावित्री देवी को 581 मतों से हारी हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें