चुनाव बड़ी खबर

सबसे ज़्यादा वोटों से जीते महागठबंधन उम्मीदवार महबूब आलम

पटना ब्यूरो। बिहार विधानसभा चुनाव में कई सीटों पर कांटे का मुकाबला रहा। इन सीटों पर अंतिम राउंड तक भारी उलटफेर होती रही। कुछ सीटों पर हार जीत का फैसला बेहद करीबी रहा। जबकि सर्वाधिक वोटों से जीत बलरामपुर विधानसभा सीट पर हुई।

बलरामपुर विधानसभा सीट पर महागठबंधन उम्मीदवार महबूब आलम ने सर्वाधिक 53 हजार से अधिक वोटों के अंतर से जीत हासिल की। महबूब आलम को 104489 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंदी और दूसरे नंबर पर रहे विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के उम्मीदवार वरुण कुमार झा को कुल 50892 वोट मिले। इस सीट पर महबूब आलम कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्ससिस्ट – लेनिनिस्ट) (लिबरेशन) के टिकिट पर चुनाव लड़े हैं।

इसी तरह सबसे करीबी मुकाबला बिहार की हिलसा विधानसभा सीट पर देखने को मिला। इस सीट पर 12 वोटों से हार जीत हुई। इस रोचक चुनाव में जनता दल उम्मीदवार ने राजद उम्मीदवार पर 12 वोटों के मामूली अंतर् से जीत दर्ज की।

हिलसा सीट पर जनता दल यूनाइटेड के कृष्णमुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया को 61,848 वोट मिले, जबकि राजद उम्मीदवार आत्री मुनि उर्फ शक्ति सिंह यादव को 61,836 वोट मिले और जदयू उम्मीदवार 12 वोट से चुनाव जीते।

ये भी पढ़ें:  ईवीएम की जगह बैलेट पेपर का इस्तेमाल, सुप्रीमकोर्ट पहुंचा मामला

नीतीश को हराने के चक्कर में एलजेपी भी साफ़:

बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच चली तकरार से भले ही जनता दल यूनाइटेड को नुकसान पहुंचा हो लेकिन खुद लोक जनशक्ति पार्टी को भी बड़ा धक्का लगा है। 2015 में दो सीटें जीतने वाली लोक जनशक्ति पार्टी को इस बार सिर्फ एक ही सीट मिली है। इतना ही नहीं बीजेपी छोड़कर लोजपा में आये सभी बागी भी चुनाव हार गए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें