राजस्थान राज्य

राजस्थान सरकार गिराने की फिर कोशिश कर रहे अमित शाह: गहलोत

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर बड़ा आरोप लगाया है। गहलोत ने कहा कि एक बार फिर उनकी सरकार को गिराने की साजिश रची जा रही है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि अमित शाह कांग्रेस की निर्वाचित सरकार को गिराने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन वे कामयाब नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार नहीं गिरेगी। उन्होंने इसी के साथ एक मुलाकात का भी जिक्र किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री, पेट्रोलियम मिनिस्टर से मिलते हैं और सरकार गिराने का प्लान बनाते हैं। हम सभी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को इससे सावधान रहना होगा। गहलोत ने कहा कि हमे बीजेपी की जाल में नहीं फंसना है। बीजेपी 5 राज्यों में निर्वाचित सरकार को गिरा चुकी है।

गहलोत ने कहा कि मुझे खुशी है कि आज शिवगंज ब्लॉक (सिरोही) की तरफ से नगर कांग्रेस के कार्यालय के उद्धाटन होने का सौभाग्य मिला। संयम लोढ़ा जी ने आज सभी को बुलाकर जो सन्देश दिया है, हम चाहेंगे वो सन्देश राजस्थान के कोने-कोने में जाए और राजस्थान में अधिक से अधिक जगह भवन बनें।

ये भी पढ़ें:  शिवपाल नहीं करेंगे अपनी पार्टी का सपा में विलय, तीन उम्मीदवारों के नाम किये घोषित

कांग्रेस के इस वर्चुअल कार्यक्रम में कांगेस महासचिव एवं राजस्थान प्रभारी अजय माकन, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द सिंह डोटासरा, मंत्री शांति धारीवाल , सांसद नीरज डांगी , सिरोही विधायक संयम लोढ़ा , शिवगंज नगरपालिका अध्यक्ष वजिंगराम घांची सहित वरिष्ठ नेता, पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

बीजेपी ने किया पलटवार:

वहीँ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आरोपों पर बीजेपी ने पलटवार किया है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि अशोक गहलोत जी बार-बार अपनी सत्ता हिलने के डर से.भेड़िया आया-भेड़िया आया जैसी कहावत को अपनाकर बीजेपी पर तोहमत लगा रहे हैं। अब जनता प्रदेश की कांग्रेस पार्टी के अंतर्कलह को समझ चुकी है एवं इस सरकार के कुशासन से तंग आ चुकी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें