अपराध बड़ी खबर

बुरी फंसी कंगना, अब पश्चिम बंगाल में दर्ज हुई एफआईआर दर्ज

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणामो के एलान के बाद हिंसा की घटनाओं को लेकर अफवाह फैलाने के आरोप में फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। यह एफआईआर तृणमूल कांग्रेस के एक नेता ने दर्ज कराई है।

पुलिस को दी गई शिकायत में कहा गया है कि कंगना रनौत ने अपने ट्विटर पर कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंसा के दौरान महिलाओं के साथ गेंग रेप की घटनाएं हो रही हैं और कई लोगों की हत्या की गई है।

टीएमसी नेता ऋजु दत्ता ने शिकायत में आरोप लगाया कि कंगना रनौत ने अपने ट्विटर हैंडलर से यह भी दावा किया कि पश्चिम बंगाल में हिन्दुओं का कत्लेआम किया जा रहा है। ऋजु दत्ता ने पुलिस स्टेशन में उन तस्वीरों के स्क्रीन शॉट भी जमा कराए हैं जिनमें कंगना के पोस्ट हैं।

गौरतलब है कि बंगाल में चुनाव परिणामो के एलान के बाद हुई हिंसा की घटनाओं पर किए गए आपत्तिजनक ट्वीट्स की वजह से कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड किया जा चुका है।

टीएमसी नेता ऋजु दत्ता ने शिकायत में आरोप लगाया अभिनेत्री ने पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हुई कथित हिंसा पर टिप्पणी की थी। इतना ही नहीं अपने एक ट्वीट में उन्होंने ममता बनर्जी को खून की प्यासी राक्षसी ताड़का बताया था। कंगना रनौत ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की छवि खराब करने के उद्देश्य से भ्रामक और अफवाह वाले पोस्ट किये।

ये भी पढ़ें:  फ्री वैक्सीन के एलान पर पीएम से विपक्ष का सवाल: फैसला लेने में इतना वक़्त क्यों लगा ?

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद ट्विटर पर महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस के खिलाफ ट्वीट कर सुर्खियां बटोलने वाली कंगना रनौत पहले ही कई मुकदमो में उलझी हुई है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद कंगना रनौत ने बॉलीवुड के नामी चेहरों को निशाना बनाते हुए बॉलीवुड में नेपोटिज्म को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था। कंगना रनौत ने वरिष्ठ गीतकार जावेद अख्तर से लेकर कई बड़े बॉलीवुड चेहरों के खिलाफ अपमानजनक ट्वीट किये थे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें