देश बड़ी खबर

लोहड़ी पर किसानो ने जलाई कृषि कानूनों की प्रतियां

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानो ने आज लोहड़ी पर्व के मौके तीनो कृषि कानूनों की प्रतियां जलाकर अपना विरोध जताया। गौरतलब है कि कल सुप्रीमकोर्ट ने कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगाते हुए एक चार सदस्यीय समिति का गठन किया है लेकिन किसान इससे संतुष्ट नहीं हैं।

सुप्रीमकोर्ट द्वारा बनाई गई समिति के सदस्यों को लेकर नया विवाद पैदा हो गया है। किसानो का कहना है कि समिति में शामिल सभी चार सदस्य सरकार को पहले ही लिखकर दे चुके हैं कि वे कृषि कानूनों का समर्थन करते हैं।

कांग्रेस महसचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने कमेटी के जो 4 सदस्य बनाए हैं वे तो पहले ही मोदी जी के कानूनों के समर्थक हैं। ऐसी कमेटी के सदस्य क्या न्याय करेंगे। प्रधानमंत्री जी…इतने अहंकारी मत बनिए किसानों की सुनिए नहीं तो देश आपकी बात सुनना बंद कर देगा।

सुप्रीमकोर्ट के फैसले का स्वागत: कृषि राज्य मंत्री

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हम स्वागत करते हैं। जो कमेटी बनाई गई है निश्चित रूप से आने वाले समय में सबसे निष्पक्ष राय लेगी। कमेटी किसान यूनियन के लोगों से और अन्य विशेषज्ञों से भी राय लेगी और उसके बाद निर्णय देगी।

ये भी पढ़ें:  लालू यादव की तबियत बिगड़ी, सांस लेने में तकलीफ

उन्होंने कहा कि पुराने बिल इतने अच्छे होते तो किसान गरीब और आत्महत्या के लिए मज़बूर नहीं होता। इस कानून को कुछ समय देखें अगर कुछ नहीं लगेगा तो भविष्य में और भी संशोधन किया जा सकता है।

किसान संगठनों की आज कोर कमेटी की बैठक में होगा फैसला:

वहीँ दूसरी तरफ कृषि कानूनों के विरोध में टिकरी बॉर्डर पर आज 49वे दिन भी किसानो का आंदोलन जारी है। आज किसानो ने कड़ाके की सर्दी में अर्धनग्न होकर प्रदर्शन किया।

इससे पहले कल सुप्रीमकोर्ट का फैसला आने के बाद किसान नेताओं ने आंदोलन जारी रखने का एलान किया था। सुप्रीमकोर्ट के फैसले पर आज किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की सिंघु बॉर्डर पर बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में किसान आगे की रणनीति तय करेंगे। हालांकि किसान नेताओं ने बैठक से पहले ही साफ़ कर दिया है कि कृषि कानूनों के खिलाफ उनका आंदोलन जारी रहेगा और वे 26 जनवरी को ट्रेक्टर परेड भी निकालेंगे।

पीएम मोदी से मिले हरियाणा के उपमुख्यमंत्री:

इस बीच आज हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। इससे पहले चौटाला गृहमंत्री अमित शाह से भी मिल चुके हैं। माना जा रहा है कि चौटाला ने हरियाणा में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर भी पीएम मोदी से बातचीत की है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें