चुनाव बड़ी खबर

कोरोनाकाल में ही विधानसभा चुनाव कराने पर विचार कर रहा चुनाव आयोग

नई दिल्ली। देश में जहाँ एक तरफ कोरोना संक्रमितों की तादाद में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है, बिहार सहित कई राज्यों में कोरोना संक्रमित मरोजो की तादाद में लगातार वृद्धि हो रही है, वहीँ दूसरी तरफ चुनाव आयोग ने बिहार में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावो के लिए मसौदा तैयार करना शुरू कर दिया है।

विधानसभा चुनाव कराये जाने के लिए चुनाव आयोग के सचिव एनटी भूटिया ने राजनीतिक दलों से 31 जुलाई तक इस मसौदे पर सुझाव मांगा है। इनके आधार पर आयोग दिशानिर्देश जारी करेगा।

चुनाव आयोग द्वारा तय किये गए मसौदे के मुताबिक सभी मतदान कर्मियों को मास्क, पीपीई किट तथा दस्ताने पहनने होंगे।

बूथ पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यता से पालन करना होगा।

कोई भी राजनैतिक दल चुनावी रैलियों का आयोजन नहीं कर सकेगा, जबकि वर्चुअल रैलियों का आयोजन किया जा सकेगा।

पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिग के बाद ही एंट्री होगी।

इसके अलावा अधिक मतदाताओं वाली बूथों पर मतदाताओं की तादाद कम कर मतदाताओं को दूसरे बूथ पर शिफ्ट किये जाएगा।

इतना ही नहीं ईवीएम मशीन का बटन हाथ की जगह टूथ पिक से दबाना होगा।

गौरतलब है कि पिछले महीने बिहार निर्वाचन आयोग द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विपक्षी दलों ने वर्चुअल रैलियों के आयोजन के सुझाव को नकार दिया था। विपक्ष का कहना था कि वर्चुअल रैलियों का आयोजन सभी दलों के लिए संभव नहीं है। वहीँ बिहार में दो अहम दलों राष्ट्रीय जनता दल और लोकजनशक्ति पार्टी कोरोना महामारी के बीच विधानसभा चुनाव कराये जाने के पक्ष में नहीं हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें