बड़ी खबर राजनीति

कर्नाटक में सोनिया के खिलाफ एफआईआर पर डीके शिवकुमार का येदुरप्पा को अल्टीमेटम

बेंगलुरु। कर्नाटक में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ एफआईआर दर्ज किये जाने को लेकर राज्य कांग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने येदुरप्पा सरकार को इस एफआईआर को तुरंत रद्द करने का अल्टीमेटम दिया है।

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा को पत्र लिखकर कहा है कि सोनिया गांधी के खिलाफ गलत जानकारी के आधार पर FIR लिखी गई है, इसे तुरंत निरस्त किया जाना चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार ने कहा, ‘बीजेपी के एक कार्यकर्ता ने सोनिया गांधी के खिलाफ गलत सूचना और राजनीतिक उद्देशय से शिकायत दर्ज कराई है। मैंने मुख्यमंत्री बीएस येदुरप्पा को पत्र लिखा है और एफआईआर (FIR) वापस लेने की मांग की है।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने इस मामले में दोषी पुलिस अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और उन्हें सस्पेंड करने की भी मांग की है।’

गौरतलब है कि कर्नाटक के शिमोगा जिले में कांग्रेस की अतंरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ आईपीसी की धारा 153, 505 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। यह मामला प्रवीण नामक एक बीजेपी समर्थित वकील की तहरीर पर दर्ज की गई है। इस एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि कांग्रेस पार्टी ने पीएम केअर्स फंड को लेकर सोशल मीडिया में गलत जानकारी दी, जिससे भ्रम ​की स्थिति बन रही है।

ये भी पढ़ें:  महिला किसानो पर टिप्पणी के खिलाफ 800 से अधिक महिला किसानो ने चीफ जस्टिस को लिखा पत्र

एफआईआर में दावा किया गया है कि 11 मई को कांग्रेस पार्टी की ओर सोशल मीडिया में गलत दावे किए गए और केंद्र सरकार पर कई झूठे और गंभीर आरोप लगाए गए। इसमें प्रधानमंत्री केअर्स फंड से जुड़ी कई गलत जानकारी दी गई।

वहीँ इस मामले में वहीं कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘यह अत्यंत निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है. हमारे ट्विटर हैंडल से सिर्फ पीएम केयर्स को लेकर ही सवाल किया गया था। हमें विश्वास नहीं हो रहा है कि ये लोग राजनीतिक प्रतिशोध के तहत इस हद तक चले जाएंगे। कर्नाटक सरकार को शर्म आनी चाहिए।’

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें