देश बड़ी खबर

ब्रेकिंग: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का इस्तीफा

मुंबई। महाराष्ट्र में तेजी से बदले घटनाक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस्तीफा दे दिया है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने फडणवीस का इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।

फडणवीस ने कहा कि यह बड़े दुर्भाग्य की बात है कि जिस दिन चुनाव परिणाम आये उस दिन उद्धवजी ने कहा कि सरकार बनाने के लिए सारे विकल्प खुले हैं। उन्होंने कहा कि जनता ने हमे गठबंधन सरकार बनाने के लिए जनादेश दिया था। अब इस तरह के हालात में एक बड़ा सवाल खड़ा होता है कि उन्होंने सारे विकल्प खुले होने की बात क्यों कही।

फडणवीस ने कहा कि उनके उद्धव ठाकरे से करीबी रिश्ते रहे हैं और आगे भी अच्छे रिश्ते रहेंगे। मैंने उन्हें कई बार फोन किया लेकिन उन्होंने जबाव नहीं दिया।

फडणवीस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बालासाहेब ठाकरे हम सभी के लिए सम्माननीय हैं। सच्चाई यह है कि हमने कभी उद्धव जी के बारे में कोई गलत बयान नहीं दिया लेकिन पिछले पांच वर्षो में खासकर पिछले दस दिनों में बीजेपी के शीर्ष नेताओं खासकर पीएम नरेंद्र मोदी के बारे में जिस तरह के बयान दिए गए, वे बर्दाश्त नहीं किये जाएंगे।

इससे पहले आज दिनभर मुंबई में बैठकों का दौर चला। सेना भवन में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने पार्टी के नेताओं से विचार विमर्श किया। वहीँ दूसरी तरफ शिवसेना सांसद संजय राउत ने एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात की।

इतना ही नहीं केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के आवास पर जुटे महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं ने भी बीजेपी-शिवसेना के बीच फंसे पेंच को लेकर मंथन किया। खबर लिखे जाने तक बीजेपी -शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर पैदा हुई रार बरकरार थी।

पूरे दिन चलता रहा मीटिंगों का दौर:

इस बीच हॉर्स ट्रेडिंग की संभावनाओं को देखते हुए कांग्रेस ने अपने सभी विधायकों को जयपुर शिफ्ट कर दिया है। वहीँ शिवसेना ने भी अपने विधायकों को बांद्रा के रंगशारदा होटल में ठहराया है।

इस बीच रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले) के अध्यक्ष रामदास अठावले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार से मिलने के लिए सिलवर ओक पहुंचे हैं। माना जा रहा है कि अठावले महाराष्ट्र के राजनैतिक सस्पेंस को लेकर पवार से बातचीत करेंगे।

महाराष्ट्र में उलझी राजनैतिक गुत्थी को सुलझाने के लिए आज का दिन महत्वपूर्ण माना जा रहा है। यदि आज बीजेपी -शिवसेना कोई रास्ता नहीं निकाल पाते हैं तो फिर राज्यपाल को तय करना होगा कि वे क्या निर्णय लेते हैं।

इस बीच खबर है कि महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच सुलह की कोशिश जारी है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मिलने संभाजी भिड़े भी गए थे। लेकिन बैठक बेनतीजा रही है।

मुख्यमंत्री पद को लेकर बीजेपी और शिवसेना के बीच दरार और गहरी हो चुकी है। दोनों पार्टियां किसी तरह के समझौते के मूड में नहीं हैं। सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव ठाकरे को तीन बार फोन किया लेकिन उद्धव ने फोन नहीं उठाया। माना जा रहा है कि यदि शिवसेना सरकार बनाने का दावा पेश करती है तो इसमें एनसीपी की बड़ी भूमिका होगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
Support us to keep Lokbharat Live, Give a small Contribution of Rs.100 to Support Fearless & Fair Journalism
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें