दुनिया बड़ी खबर

अमेरिका: अदालत ने ट्रंप को लगाई फटकार, अब हार मानने के अलावा रास्ता नहीं

वाशिंगटन। अमेरिका में हुए राष्ट्रपति पद के चुनाव में मतगणना को लेकर धांधली के आरोप लगाने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को अदालत ने कड़ी फटकार लगाई है। अदालत ने तल्ख़ टिप्पणी करते हुए कहा कि चुनाव मतदाता जिताते हैं वकील नहीं।

पेनसिल्वेनिया राज्य में चुनाव नतीजे प्रामाणिक करने की प्रक्रिया रोकने की ट्रंप की अपील को ठुकराते हुए तीसरी अपीलीय सर्किट कोर्ट के जज ने चुनावी नतीजे पलटने की दलील पर ट्रंप की टीम को कड़ी फटकार सुनाई।

अदालत ने कहा कि बिना प्रमाण किसी भी चुनाव को अनुचित नहीं कहा जा सकता। निष्पक्ष चुनाव हमारे लोकतंत्र के प्राण हैं और इस प्रक्रिया को रोका नहीं जा सकता है। अदालत ने कहा कि मतदाताओं के फैसले को पलटने की कोशिश का मतलब लोकतान्त्रिक प्रक्रिया को ठुकराने जैसा है।

जज स्टेफानोस बिबास ने कहा, पक्षपात के आरोप गंभीर हैं, लेकिन चुनाव को पक्षपातपूर्ण कहने भर से नहीं चलेगा, स्पष्ट आरोप और उनके समर्थन में सबूत भी होने चाहिए। यहां इनमें से कुछ भी नहीं है।

गौरतलब है कि चार दिन पूर्व ही पेनसिल्वेनिया में ट्रंप के प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन को विजेता घोषित किया गया था। इस फैसले के खिलाफ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की टीम ने अदालत का रुख किया था। अहम बात यह है कि इस मामले में फैसला सुनाने वाले जज की नियुक्ति भी ट्रंप ने ही की थी।

ये भी पढ़ें:  राफेल डील में कमीशनखोरी को लकेर हुआ बड़ा खुलासा, सरकार के खिलाफ हमलावर हुई कांग्रेस

जानकारों की माने तो अब राष्ट्रपति ट्रंप के पास अपनी पराजय स्वीकार करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है। बेहतर यही रहेगा कि वे खुद से पराजय स्वीकार करते हुए व्हाइट हाउस खाली कर दें। बता दें कि अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बड़ी हार हुई है। कई राज्यों में हार के बावजूद ट्रंप की टीम ने मतगणना में धांधली का आरोप लगाते हुए अदालत का रुख किया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें