बड़ी खबर मनोरंजन

गलत साबित हुई कंगना की शिकायत, कोर्ट ने कहा “कंगना ने घर बनाने में किया नियमो का उल्लंघन”

मुंबई। बॉम्बे की एक अदालत ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत की उस याचिका को ख़ारिज कर दिया है जिसमे उन्होंने बीएमसी की कार्रवाही से अंतरिम राहत की मांग की थी। कोर्ट ने कंगना की शिकायत पर कोर्ट ने कहा कि कंगना रनौत ने खार स्थित अपने घर के निर्माण में नियमो का गंभीर उल्लंघन किया है।

कोर्ट ने बीएमसी की उस दलीली को भी सही पाया जिसमे कहा गया था कि कंगना रनौत ने नक़्शे के मुताबिक निर्माण कार्य नहीं किया। जिससे नियमो का उल्लंघन हुआ है।

बता दें कि कंगना रनौत ने बीएमसी द्वारा जारी किए गए नोटिस के खिलाफ सिविल कोर्ट में याचिका दायर की थी। बीएमसी द्वारा जारी किए गए नोटिस में कंगना की तरफ से घर बनाने में किए गए अवैध निर्माण हटाने की बात कही गई थी।

इतना ही नहीं बीएमसी की तरफ से दी गई आपत्तियों में तीन फ्लैट्स को एक यूनिट में बदलने का भी हवाला दिया गया था। बीएमसी ने कहा था कि कंगना ने तीन फ्लैट्स को एक यूनिट में बदलकर नियमों का उल्लंघन किया है। कोर्ट ने इसे सही माना है।

ये भी पढ़ें:  देशभर में आज से शुरू होगा कोरोना वैक्सीनेशन अभियान

अदालत में सुनवाई के दौरान कंगना रनौत की तरफ पेश हुए वकील रिज़वान सिद्दीकी ने कहा कि बीएमसी के नोटिस में ऐसा कोई ज़िक्र नहीं था, जिससे यह पता चल सके कि निर्माण कार्य में नियमो का उल्लंघन हुआ है।

इस पर बीएमसी के वकील ने कहा कि कंगना रनौत द्वारा निर्माण कार्य में किये गए नियमो के उल्लंघन का नोटिस जारी किए जाने से पहले बीएमसी की तरफ से एक इंजीनियर ने कंगना रनौत के घर का सर्वे किया था। उक्त इंजीनीयर की रिपोर्ट में 8 उल्लंघनों का जिक्र है। रिपोर्ट में साफतौर पर बताया गया है कि निर्माण कार्य में किस तरह नियमोंकी अनदेखी की गई है।

कोर्ट ने बीएमसी के वकील की दलीलों को सही ठहराते हुए कंगना रनौत की वह अर्ज़ी रद्द कर दी जिसमे कंगना ने बीएमसी की कार्रवाही रुकवाने और कार्रवाही से अंतरिम राहत की मांग कोर्ट से की थी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें