मध्यप्रदेश राज्य

सिंधिया के गढ़ में बड़ा कार्यक्रम करेगी कांग्रेस, कमलनाथ करेंगे चुनाव प्रचार का आगाज

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में विधानसभा के उपचुनाव का एलान होने से पहले ही बीजेपी और कांग्रेस चुनावी मोड में नज़र आने लगी हैं। पिछले दिनों ग्वालियर में बीजेपी द्वारा आयोजित सदस्यता अभियान कार्यक्रम के जवाब में अब कांग्रेस की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक इस महीने ग्वालियर में पार्टी बड़ा कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। इस कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह सहित पार्टी के वरिष्ठ नेता, विधायक आदि मौजूद रहेंगे।

सूत्रों ने कहा कि अभी कार्यक्रम आयोजन की तारीख को लेकर मंथन चल रहा है लकिन माना जा रहा है कि कार्यक्रम का आयोजन की तारीख 10, 11 या 12 सितंबर में से कोई एक होगी।

सूत्रों ने कहा कि इस कार्यक्रम में हज़ारो बीजेपी कार्यकर्ताओं को कांग्रेस की सदस्यता भी ग्रहण कराई जायेगी, साथ ही शिवराज सरकार का कच्चा चिटठा जनता के समक्ष रखा जाएगा।

गौरतलब है कि जिन 27 सीटों पर उपचुनाव होना है उनमे 16 सीटें ग्वालियर चंबल के इलाके की हैं। इसलिए कांग्रेस के इस कार्यक्रम को चुनाव अभियान के आगाज के तौर पर देखा जा रहा है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस नेताओं को ज़िम्मेदारी सौंप दी है और कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए समितियां बनाई गई हैं। कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि पार्टी के इस कार्यक्रम से बीजेपी का कार्यकम फीका पड़ना तय है। यह कार्यक्रम बीजेपी के कार्यक्रम का जवाब होगा।

दरअसल बीजेपी ने हाल ही में ग्वालियर में आयोजित हुए सदस्यता अभियान कार्यक्रम के बाद दावा किया था कि उसने कांग्रेस के 76 हज़ार कार्यकर्ताओं को बीजेपी में शामिल किया है। हालांकि कांग्रेस ने बीजेपी के दावों को फ़र्ज़ी करार दिया था लेकिन अब कांग्रेस बीजेपी को उसी की भाषा में जबाव देने के लिए तैयारी कर रही है। सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस के सम्पर्क में पहले से चल रहे बीजेपी के कई कद्दावर इस कार्यक्रम में कांग्रेस में शामिल होंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें