बड़ी खबर राजनीति

कांग्रेस का आरोप: चुनाव हार चुकी बीजेपी, चुनाव प्रभावित करने के लिए इस्तेमाल कर रही हथकंडे

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज एक बार फिर बीजेपी पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि बीजेपी चुनाव प्रभावित करने के लिए तरह तरह के हथकंडे इस्तेमाल कर रही है।

सुरजेवाला ने शनिवार को कहा कि बीजेपी तरह-तरह के हथकंडे अपना रही है, वे असम, केरल, बंगाल, तमिलनाडु में चुनाव प्रभावित करना चाहते हैं। लेकिन वो इस षड्यंत्र में कामयाब नहीं होंगे है। हेमंत बिस्वा सरमा को असम और पूरे उत्तर पूर्व में 48 घंटे का बैन यह साबित करता है कि बीजेपी चुनाव हार चुकी है।

असम में न्यूज़ की तर्ज पर अखबारों में छपे बीजेपी के विज्ञापनों को लेकर सुरजेवाला ने कहा कि हम चुनाव आयोग से आग्रह करते हैं कि वो सारे इश्तेहार जो दुर्भावनापूर्ण असम के अखबारों में दिए गए थे उसमें अखबारों को तो नोटिस दिया है लेकिन इश्तेहार में जिस-जिस का चेहरा है वो चाहे मोदी जी,अमित शाह या सर्बानंद जी हो उन पर भी इस तरह का बैन लगे ताकि निष्पक्ष चुनाव हो।

वहीँ इस बीच शनिवार को चुनाव आयोग ने असम के मंत्री और भाजपा नेता हिमंत बिस्वा शर्मा के चुनाव प्रचार पर रोक की अवधि को 48 घंटे से घटाकर 24 घंटे कर दिया है।

ये भी पढ़ें:  उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में अपने प्रदर्शन से संतुष्ट है कांग्रेस

इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला ने कहा कि असम में कल भाजपा के उम्मीदवार की गाड़ी के अंदर से EVM मशीन मिली है। EVM मशीनें हमेशा बीजेपी के लोगों के पास से ही क्यों मिलती है? प्रियंका गांधी ने भी इस मुद्दे को उठाया है। कांग्रेस पार्टी इस मामले को लेकर चुनाव आयोग को पत्र भेज रही है।

गौरतलब है कि असम में बीजेपी उम्मीदवार की बोलेरो कार में एवीएम मिलने की घटना के बाद चुनाव आयोग ने चार कर्मचारियों को निलंबित किया है। इस मामले में चुनाव आयोग ने रिपोर्ट भी तलब की है और उस बूथ पर फिर से चुनाव कराये जाने के आदेश दिए हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें