बड़ी खबर राजनीति

कांग्रेस ने एग्जिट पोल किये ख़ारिज, कहा ‘असम में हम 101 सीटों के करीब’

नई दिल्ली। पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव को लेकर कल मीडिया चैनल में आये एग्जिट पोल को कांग्रेस ने ख़ारिज कर दिया है। लगभग सभी एग्जिट पोल में असम में बीजेपी की सत्ता में वापसी की संभावना जताई गई है लेकिन कांग्रेस ने इसे ख़ारिज कर दिया है।

पार्टी ने असम पर मीडिया के एग्जिट पोल को ख़ारिज करते हुए कहा है कि असम में मीडिया के एग्जिट पोल गलत साबित होने जा रहे हैं। राज्य में पार्टी कम से कम 101 सीटें जीतने के करीब है।

असम में कांग्रेस के प्रभारी जितेंद्र सिंह ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि एक्जिट पोल झूठे होते हैं। 48 घंटे में रिजल्ट आ जाएगा और दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। कांग्रेस के साथ महाजोत असम में सरकार बनाएगी। हम 101 सीटों के नजदीक पहुंचने वाले हैं। आज ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत नहीं है, रिजल्ट परसो आ जाएंगे।

उन्होंने कहा कि असम में लोगों ने बदलाव के लिए वोट किया है। वहां की जनता बीजेपी सरकार से त्रस्त है और चुनाव परिणाम राज्य में बदलाव को सुनिश्चित करने वाले होंगे, इसमें कोई संदेह नहीं है।

ये भी पढ़ें:  ट्विटर को सरकार का फाइनल नोटिस, कहा 'नियम नहीं माने तो होगी कार्रवाही'

गौरतलब है कि असम में हुए विधानसभा चुनाव को लेकर आये अलग अलग मीडिया चैनल के एग्जिट पोल में अलग अलग भविष्यवाणियां की गई हैं। कई एग्जिट पोल में कांटे की टक्कर की बात कहि गई है तो कई एग्जिट पोल में असम में एक बार फिर बीजेपी की सरकार बनने की भविष्यवाणी की गई है।

क्या कहते हैं एग्जिट पोल:

इंडिया टुडे -एक्सिस माई इंडिया:

बीजेपी 75-85 — कांग्रेस 40-50 — एजीपी 01

एबीपी-सीवोटर:

बीजेपी 58-71 — कांग्रेस 53-66– एजीपी 0-05

रिपब्लिक-सीएनएक्स:

बीजेपी 74-84 — कांग्रेस 40-50– एजीपी 01-03

TV9 भारतवर्ष-पोलस्ट्रेट:

बीजेपी 59-69 — कांग्रेस 55-65– एजीपी 0-05

न्यूज़ 24-चाणक्य:

बीजेपी 61-79 — कांग्रेस 47-65– एजीपी 0-03

बता दें कि असम में तीन चरणों में विधानसभा चुनाव हुए हैं।पिछले चुनावो में बीजेपी को सेकुलर मतो के विभाजन का लाभ मिला था, इसकी अहम वजह कांग्रेस और एआईयूडीएफ के अलग अलग चुनाव लड़ना था। इस बार कांग्रेस ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा है।

विधानसभा चुनाव के नतीजे दो मई को घोषित किये जाने हैं। उससे पहले खरीद फरोख्त की आंशका को ध्यान में रखते हुए एआईयूडीएफ ने अपने उम्मीदवारों को राजस्थान भेज दिया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें