बड़ी खबर मध्यप्रदेश राज्य

संघ से जुडी संस्था को 1 रूपये में 10 हजार वर्गफुट जमीन, कांग्रेस ने शुरू की घेराबंदी

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ(आरएसएस) से जुडी एक संस्था पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की मेहरबानी के खिलाफ कांग्रेस ने शिवराज सरकार की घेराबंदी शुरू कर दी है।

भोपाल के इंडस्ट्रियल एरिया गोविंदपुरा की दस हजार स्क्वेयर फुट जमीन सरकार की तरफ से आरएसएस से जुड़ी एक संस्था को अलॉट किये जाने के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है।

संघ से जुडी संस्था को अलॉट की गई ज़मींन पर रविवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शिलान्यास किया। इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में पहुंचे कांग्रेस नेताओं की पुलिस से नौकझौंक भी हुई।

रविवार सुबह मौके पर पहुंचे कांग्रेस नेताओं, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और भोपाल डीआईजी इरशाद वली के बीच तीखी नोकझोंक हो गई। दिग्विजय सिंह ने कहा कि यदि आरएसएस ने पार्क में भूमिपूजन किया तो हम दीवार को तोड़ देंगे।

शनिवार को रविवार को जैसे ही पार्क हटान के काम शुरू हुआ तो कई कांग्रेसी कार्यकर्ता पहुंच गए और धरने पर बैठ गए। राज्य के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह भी मौके पर पहुंच गए।

ये भी पढ़ें:  पंजाब कांग्रेस में नहीं थमी कलह, नवजोत सिंह सिद्धू का प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा

दिग्विजय सिंह ने कहा कि यह वहीं जमीन है जिस पर मौजूदा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय बाबूलाल गौर ने पौधारोपण किया था। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि आखिर ऐसा क्या हो गया जो सरकार ने इस जमीन को आरएसएस की संस्था को दे दिया।

संस्था को जमीन मिलने के बाद यहां से पेड़ों को भी काटा जा रहा है इस पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हमेंशा पेड़ पौधे लगाने का नाटक करते हैं। उन्होंने पूर्व में जहां पेड़ लगवाए हैं अब उन्हें ही कटवा रहे हैं।

विरोध प्रदर्शन के बीच बैरिकेडिंग पार करने की कोशिश करने पर पुलिस ने कांग्रेस नेताओं पर पानी की बौछार की। साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर हल्का बल प्रयोग भी किया। डीआईजी ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन कर प्रदर्शन करने वालों को चिन्हित करके उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

वहीँ पार्क को खत्म किये जाने के खिलाफ खड़ी हुई कांग्रेस का गोविंदपुरा इंडस्ट्री एसोसिएशन ने भी समर्थन किया है। एसोसिएशन का कहना है कि जब यहां जनता के साथ साथ सरकार के लोगों ने खुद पौधे लगाए हैं तो फिर पार्क की जमीन को किसी एनजीओ को कैसे सौंप दिया गया। एसोसिएशन ने सरकार से जमीन का आवंटन रद्द करने की मांग की है।

ये भी पढ़ें:  दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में दिन दहाड़े गैंगवार, गैंगस्टर जितेंद्र उर्फ गोगी की गोली मारकर हत्या

वहीँ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह तथा अन्य कांग्रेस नेताओं पर वाटर कैनन के इस्तेमाल को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर हमला बोला है।

कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा कि शिवराज सरकार गोविंदपुरा में पार्क की जमीन आरएसएस से जुड़ी संस्था को 1 रुपए मे दे रही है। इस कृत्य का प्रजातांत्रिक तरीक़े से विरोध करने पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद श्री दिग्विजय सिंह जी और दूसरे कांग्रेसी कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें