मध्यप्रदेश राज्य

कांग्रेस को झटका: दमोह से विधायक ने दिया इस्तीफा, शिवराज से मिले

भोपाल ब्यूरो। एन चुनाव के मौके पर कांग्रेस को एक और बड़ा झटका लगा है। दमोह से कांग्रेस विधायक राहुल लोधी ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

राहुल लोधी ने आज विधानसभा की सदस्यता से अपना इस्तीफा विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा को अपना इस्तीफा सौंप दिया। इस्तीफा देने के बाद राहुल लोधी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी मुलाकात की।

इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायक राहुल लोधी की मुख्यमंत्री शिवराज से मुलाक़ात के बाद तस्वीर पूरी तरह साफ़ हो चुकी है और राहुल लोधी किसी भी समय बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।

लोधी से पहले उनके बड़े भाई प्रद्युम्न सिंह लोधी ने भी कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था। माना जा रहा है कि उपचुनाव में उम्मीद के मुताबिक सीटें न आने के भय से बीजेपी कांग्रेस विधायकों की तादाद कम करने की रणनीति पर काम कर रही है।

बताया जा रहा है कि राहुल लोधी ने विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर को कल ही अपना इस्तीफा सौंप दिया था लेकिन इस खबर को गुप्त रखा गया और आज मुख्यमंत्री शिवराज से राहुल लोधी की मुलाक़ात के बाद ही यह खबर बाहर आई है।

ये भी पढ़ें:  राजस्थान के कई जिलों में रात का कर्फ्यू लागू, दिल्ली में लगातार तीसरे दिन 100 से अधिक मौतें

राहुल लोधी के इस्तीफे पर अभी तक पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है। वहीँ वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि “मामा के झोले की काली कमाई में एक और विधायक बिका। लगता है भाजपा में असली भाजपाइयों से अधिक बिके हुए ग़द्दार कॉंग्रेसी मामा भर देगा। मुझे उन ईमानदार संघ व भाजपा के कार्यकर्ताओं पर दया आती है जिन्होंने भाजपा को यहाँ तक पहुँचाया। जयंत मलैया जी कहॉं हैं?”

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में विधानसभा की 28 सीटों के लिए 3 नवंबर को उपचुनाव होना है। इनमे 25 सीटें कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देने से खाली हुई हैं। अब दमोह से कांग्रेस विधायक राहुल लोधी के इस्तीफे के बाद इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायकों की तादाद 26 हो गई है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें