चुनाव बड़ी खबर

दिल्ली चुनाव: राष्ट्रीय जनता दल से गठबंधन पर मंथन जारी, 4 सीटें दे सकती है कांग्रेस

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव ने हाल ही में दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने की इच्छा ज़ाहिर की थी, लेकिन इस पर कांग्रेस की तरफ से तुरंत कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आयी थी।

अब खबर आ रही है कि दिल्ली में राष्ट्रीय जनता दल से गठबंधन को लेकर कांग्रेस में मंथन जारी है और कल देर शाम तक इस पर कोई फैसला सामने आ सकता है। सूत्रों की माने तो कांग्रेस दिल्ली की चार विधानसभा सीटें राष्ट्रीय जनता दल को देने पर विचार कर रही है।

गौरतलब है कि बिहार में कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल के बीच गठबंधन है, और इस वर्ष के अंत तक बिहार में भी विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में कांग्रेस के ऊपर सहयोगी दल की इच्छाओ का सम्मान रखने का दबाव है।

माना जा रहा है कि इस बार दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्षेत्रीय दल भी चढ़बढ़ कर हिस्सा लेंगे। राष्ट्रीय जनता दल के अलावा नीतीश कुमार की जनता दल यूनाइटेड, रामविलास पासवान की लोकजनशक्ति पार्टी के अलावा दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी(जेजेपी) ने भी दिल्ली की कुछ विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान किया है।

ये भी पढ़ें:  और बढ़ेंगी कंगना रनौत की मुश्किलें: पंजाब की दादी ने ठोका मुकदमा

सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस अभी यह तय नहीं कर पाई है कि राष्ट्रीय जनता दल को कौन सी चार सीटें दी जा सकती हैं। हालाँकि सूत्रों ने दावा किया कि तेजस्वी यादव ने संगमविहार, अंबेडकर नगर, तुगलकाबाद, ओखला, तिमारपुर और छतरपुर सीटों की मांग की है लेकिन कांग्रेस राष्ट्रीय जनता दल को चार सीटें देने पर विचार कर रही है।

सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल की नज़र उन सीटों पर जिस पर बिहार से दिल्ली में आकर बसे मतदाताओं की तादाद अच्छी है लेकिन फिलहाल कांग्रेस ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

वहीँ सूत्रों ने यह भी कहा कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से चुनाव लड़ने की अपील के बाद कांग्रेस ने अपनी रणनीति में थोड़ा परिवर्तन किया है। इसलिए संभावना है कि जब उम्मीदवारों के नामो का एलान हो तो बहुत कुछ बदला हुआ सा नज़र आये।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें