चुनाव बड़ी खबर

कांग्रेस-लेफ्ट- आईएसएफ ने ब्रिगेड मैदान में संयुक्त रैली कर फूंका चुनावी बिगुल

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए आज कांग्रेस-वामदलों और इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) ने कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में संयुक्त रैली आयोजित कर अपने चुनाव अभियान की शुरुआत की।

हालांकि, इस गठबंधन में अभी भी गड़बड़ दिखाई दे रही है, क्योंकि आईएसएफ की कांग्रेस के साथ सीटों के बंटवारे के सौदे को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है और सिद्दीकी ने इस मुद्दे को संबोधित करते हुए, केवल वाम उम्मीदवारों के लिए लोगों का समर्थन मांगा और कांग्रेस का नाम तक नहीं लिया।

इस रैली में माकपा के अखिल भारतीय महासचिव सीताराम येचुरी, कांग्रेस के लोकसभा नेता और बंगाल इकाई के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी, कांग्रेस के छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा इंडियन सेक्युलर फ्रंट के नेता पीरजादा अब्बास भी मौजूद थे।

रैली को संबोधित करते हुए सीपीआई(एम) के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि भाजपा ऐसे कानून लाई है कि इलेक्टोरल बॉन्ड के नाम पर वे लाखो करोड़ो रुपये इकट्ठा कर रहे हैं। यह पैसा कौन दे रहा है इसका कोई हिसाब नहीं है। उन्होंने कोरोना के नाम पर एक निजी फंड खोल रखा है वहां भी पैसे इकट्ठे किए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें:  कोरोना को लेकर एक्शन में केंद्र सरकार, पीएम ने की उच्च स्तरीय बैठक

उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वे भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते हैं और मोदी जी ने अपने नाम से गुजरात में एक क्रिकेट स्टेडियम बना लिया है। वे वंशवाद के खिलाफ बोलते हैं और अमित शाह जी के सुपुत्र जय शाह वहां के क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं। ये लोग भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं।

माकपा पोलित ब्यूरो के सदस्य एम डी सलीम ने कहा कि टीएमसी ने पिछले 10 वर्षों में राज्य में रोजगार सृजन के लिए कुछ भी नहीं किया और न ही भाजपा के नेतृत्व वाले केंद्र ने पिछले सात वर्षों में बंगाल में कोई निवेश लाया।

रैली को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल कांग्रेस केो अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने ममता सरकार पर हमला बोला। अधीर ने कहा कि बीजेपी और टीएमसी यहां पर नहीं रहेगी, यहां हमेशा संयुक्त मोर्चा ही रहेगी। अधीर रंजन इस दौरान ममता सरकार बदलने की भी बात कही।

इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के नेता पीरजादा अब्बास सिद्दीकी ने मंच पर रैली को संबोधित करते हुए कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी बीजेपी की बी टीम है। उन्होंने कहा कि बंगाल की रक्षा करने के लिए अगर उन्हें रक्त भी देनी पड़े तो वे इसके लिए तैयार हैं।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि पीएम मोदी सुभाषचंद्र बोस की जयंती मनाने आते हैं, लेकिन उन्हें अपना इतिहास पढ़ना चाहिए। बघेल ने आगे कहा कि ये लोग सावरकर को मानने वाले है‍ं, बोस का उत्तराधिकारी नहीं बन सकते हैं।

ये भी पढ़ें:  तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामले, आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक

वहीँ रैली के बाद मीडिया से बात करते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा विपक्षी दल के लोगों को खरीदने का काम कर रही है। उन्होंने भारत के लोकतंत्र को एक बाजार बना दिया है। जहां खरीद फरोख्त हो रही है, चाहे विधायक हों, सांसद हों, नेता हों। देश को मंडी बना दिया है, यह लोकतंत्र के लिए उचित नहीं है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें