बड़ी खबर मध्यप्रदेश राज्य

कांग्रेस के इस नारे से क्यों डर रहे हैं सिंधिया समर्थक ?

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश में 27 सीटों के लिए उपचुनाव का एलान अभी नहीं हुआ है, चुनावी तैयारियां धीमे धीमे गति पकड़ रही हैं। उम्मीदवारों के चयन के लिए कांग्रेस और बीजेपी के अंदर माथापच्ची शुरू हो गई हैं।

इस बीच कांग्रेस का एक नया नारा कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए सिंधिया समर्थको के लिए अभी से गले की फांस बन गया है। सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों की विधानसभाओं में कांग्रेस का नया नारा ज़ोर पकड़ने लगा है।

दरअसल कांग्रेस ने कोरोना काल में प्रदेश के लोगों को मास्क वितरण का काम शुरू किया है। जनता में वितरित किये जा रहे मास्क पर लिखा एक नारा “बिकाऊ नहीं, टिकाऊ चाहिये” सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों को खटक रहा है।

कांग्रेस यह मास्क आम जनता में वितरित कर रही है। कांग्रेस की रणनीति है कि इन मास्को को उन इलाको में गाँव देहात स्तर तक बांटा जाए जहाँ उपचुनाव होने हैं। पार्टी का मनाना है कि मास्क पर लिखा संदेश यह याद दिलाने के लिए काफी है कि कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार को राज्य में किस तरह गिराया गया।

टीम कमलनाथ के एक सदस्य ने कहा कि जब गांव देहात, गली मोहल्ले में लोग ये मास्क लगाकर निकलेंगे तो हमारा सदेश जनता को देंगे कि वे उपचुनाव में बिकाऊ नहीं टिकाऊ को चुने। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता उपचुनाव में उन सभी नेताओं को सबक सिखाने वाली हैं जिन्होंने अपने निजी फायदे के लिए लोकतंत्र का गला घौंट दिया और मतदाताओं के साथ धोखा दिया।

उपचुनाव में भी चलेगा यही नारा:

वहीँ कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कहा कि चूंकि प्रदेश में विधानसभा की 27 खाली सीटों पर उपचुनाव होना है, इसलिए कांग्रेस जनता से कहेगी कि वह ऐसे प्रत्याशी चुने जो बिकाऊ नहीं, बल्कि टिकाऊ हों. यदि टिकाऊ होगा तो सेवा की भावना से काम करेगा और फिर सरकार भी ठीक चलेगी।

उन्होंने कहा कि इसी मुद्दे को लेकर उपचुनाव वाली सीटों पर कांग्रेस जनता के बीच जाएगी और ‘बिकाऊ नहीं, टिकाऊ चाहिए, फिर से कमलनाथ सरकार चाहिए’ वाले मास्क वितरित कर लोगों के बीच प्रचार करेगी।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें