बड़ी खबर राजनीति

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का देशभर में प्रदर्शन

नई दिल्ली। पिछले एक अरसे से प्रतिदिन बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर कांग्रेस देशभर में प्रदर्शन कर ही है। लगातार बढे दामों के बाद डीजल की कीमतें पेट्रोल की कीमतों से आगे निकल गयीं हैं।

जहाँ बिहार में प्रदेश कांग्रेस कमेटी और यूथ कांग्रेस के नेताओं ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया वहीँ कर्नाटक में कांग्रेस ने साईकिल रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। बिहार में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर भी प्रदर्शन में शामिल हुए। वहीँ कर्नाटक में पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार भी साईकिल रैली में शामिल हुए।

तेल की बढ़ी हुई कीमतों को वापस लेने की मांग को लेकर आज के कई राज्यों में कांग्रेस कार्यकर्ता प्रदर्शन करेंगे। बता दें कि तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ कांग्रेस ने 5 दिनों तक प्रदर्शन करने का किया है।

कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी. वेणुगोपाल ने कहा कि पार्टी ईंधन मूल्य वृद्धि के खिलाफ सोमवार को भी सुबह 11 बजे से दोपहर 12 तक केंद्र सरकार के कार्यालयों के सामने प्रदर्शन करेगी।

उन्होंने कहा कि इन विरोध प्रदर्शन का उद्देश्य ईंधन मूल्य वृद्धि के कारण जनता को हो रही परेशानी को सामने लाना और भाजपा की नीतियों और कार्यक्रमों की कलई खोलना भी है।

वेणुगोपाल ने कहा कि मोटर ईंधन की कीमत पिछले 21 दिनों से बढ़ रही है, जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत रिकॉर्ड निचले स्तर पर है। इससे आम जनता पर अनावश्यक बोझ पड़ रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क बढ़ाकर भारी धनराशि की वसूली की है।

तेल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का डिजिटल केम्पेन:

इसके अलावा कोंग्रस आज तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ ऑनलाइन केम्पेन भी चला रही है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने #SpeakUpAgainstFuelHike के तहत एक वीडियो मैसेज पोस्ट किया है और लोगों को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ बोलने की अपील की है।

अपने वीडियो संदेश में सोनिया गांधी ने कहा कि कोरोना महामारी के बीच पेट्रोल-डीजल में लगातार हो रही बढ़ोतरी ने देशवासियों का जीना बेहद मुश्किल कर दिया है। उन्होंने कहा कि 25 मार्च को लॉकडाउन के बाद पिछले तीन महीने में मोदी सरकार ने 22 बार लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाए, इस सरकार में ये सब उस समय हो रहा है जब कच्चे तेल की कीमतें अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगातार कम हो रही हैं।

उन्होंने कहा कि 2014 के बाद मोदी सरकार ने लोगों को कच्चे तेल की गिरती कीमतों का फायदा देने के बजाय 12 बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ा दी, जिससे पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें