दुनिया बड़ी खबर

चीन ने फिर किया गलवान घाटी पर दावा, कहा ‘वर्षो से हमारे सैनिक कर रहे गश्त’

नई दिल्ली। चीन ने एक बार फिर लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर गलवान घाटी पर अपना दावा किया है। चीन के विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को दावा किया कि गलवान घाटी में चीन के सैनिक वर्षो से गश्त कर रहे हैं।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने शुक्रवार को मीडिया ब्रीफिंग में दावा किया कि गलवान घाटी वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के चीन की तरफ है।

उन्होंने कहा, ‘गलवान घाटी एलएसी पर भारत-चीन सीमा के पश्चिमी सेक्‍शन पर है और चीन की तरफ स्थित है। पिछले कई वर्षों से चीनी बॉर्डर ट्रूप्‍स यहां पर पेट्रोलिंग कर रहे हैं और ड्यूटी पर तैनात रहते हैं।’

चीन की तरफ से यह दावा ऐसे समय में किया गया है जब भारत और चीन के बीच गलवान घाटी को लेकर तनाव पैदा हो गया है। 15 जून सोमवार को गलवान घाटी में भारत और चीनी जवानों के बीच हिंसा हुई थी। सात घंटे तक चले इस टकराव में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे और 76 घायल हो गए थे। 10 भारतीय सैनिकों को चीनी सेना ने बंदी बना लिया था। इन्‍हें गुरुवार को चीन ने रिहा किया है।

इससे पहले गुरुवार को भारत की तरफ से गलवान घाटी पर चीनी दावे को नकार दिया गया था। भारत ने गलवान घाटी पर चीनी सेना के संप्रभुता के दावे को खारिज करते हुए कहा था कि चीन अपनी गतिविधियां एलएसी के उस तरफ तक ही सीमित रखे।

वहीँ शुक्रवार को चीन के मामले में सरकार द्वारा बुलाई गई बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि न कोई हमारे क्षेत्र में घुसा और न ही किसी ने हमारी चौकी पर कब्जा किया है। उन्होंने कहा कि चीन ने जो किया है उससे पूरा देश आहत और आक्रोशित है। उन्होंने कहा कि भारत शांति और मित्रता चाहता है, लेकिन उसकी संप्रभुता सर्वोपरि है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें